कल है वरूथिनी एकादशी !! करे इस वरूथिनी एकादशी के दिन यह महाउपाय धन क्या दुनिया की हर चीज होगी आपकी मुट्ठी में !!

करे इस वरूथिनी एकादशी के दिन यह महाउपाय धन क्या दुनिया की हर चीज होगी आपकी मुट्ठी में !!

पुराणों में सभी व्रतों में एकादशी व्रत का बड़ा महत्व बताया गया है। पूरे साल में 24 एकादशी आती है । एकादशी का आरम्भ उत्पन्ना एकादशी से होता है। ऎसी मान्यता है कि इसी एकादशी से एकादशी के व्रत की शुरुआत हुई थी। शास्त्रों के अनुसार सतयुग में इसी एकादशी तिथि को भगवान विष्णु के शरीर से एक देवी का जन्म हुआ था। उस देवी ने भगवान विष्णु के प्राण बचाए थे जिससे प्रसन्न होकर श्री विष्णु जी ने इन्हें एकादशी नाम दिया। पद्मपुराणमें भगवान श्रीकृष्ण युधिष्ठिर को बताते हैं-वैशाख के कृष्णपक्ष की एकादशी वरूथिनी के नाम से प्रसिद्ध है। यह इस लोक और परलोक में भी सौभाग्य प्रदान करने वाली है। वरूथिनी के व्रत से सदा सौख्य का लाभ तथा पाप की हानि होती है। यह सबको भोग और मोक्ष प्रदान करने वाली है।इस व्रत को करने वाला दिव्य फल प्राप्त करता है।

एकादशी के दिन किये गए उपायों का बहुत महत्व है। मान्यता है कि इस दिन किये गए उपायों से सारे कष्ट दूर हो जाते है, जातक को भगवान विष्णु और माँ लक्ष्मी दोनों की असीम कृपा प्राप्त होती है।

1.एकादशी के दिन जल में आँवले का रस डालकर स्नान करने से बहुत पुण्य प्राप्त होता है शास्त्रों के अनुसार जो भी जातक दोनों पक्षों की एकादशियों को आँवले के रस को जल में डालकर स्नान करते हैं, उनके समस्त पाप नष्ट हो जाते हैं।

2.एकादशी के दिन भगवान श्रीविष्णु का केसर मिश्रित दूध से अभिषेक करने से भगवान अपने भक्त से शीघ्र प्रसन्न हो जाते है उस जातक को जीवन में कभी भी आर्थिक संकट का सामना नहीं करना पड़ता है ,उसका घर सदैव धन धान्य से भरा रहता है ।

3.एकादशी के दिन दक्षिणावर्ती शंख में जल भरकर भगवान श्रीविष्णु का अभिषेक करें। इस उपाय से माँ लक्ष्मी अत्यंत प्रसन्न होती है और जातक पर भगवान विष्णु और मां लक्ष्मी दोनों की पूर्ण कृपा होती हैं।

4.एकादशी के दिन भगवान श्री विष्णु की पूजा में केसर, पीली मिठाई, नारियल, आँवला, सिंघाड़ा लौंग, इलाइची ,तुलसी दल ( तुलसी की पत्ती )और पीले फूल अवश्य ही चढ़ाएं ।

5.एकादशी के दिन दान का बहुत ही महत्व है । प्रत्येक एकादशी के दिन पीले रंग के वस्त्र , पीले फल, पीला अनाज, पीला मिष्ठान भगवान विष्णु को अर्पण करें इसके बाद ये सभी वस्तुएं योग्य ब्राह्मण / गरीबों में दान कर दें। इस उपाय से भगवान विष्णु की कृपा बनती है कार्यों में मनवांच्छित सफलता प्राप्त होती है ।

6.एकादशी के दिन भगवान श्री विष्णु के मंदिर में एक नारियल व थोड़े बादाम चढ़ाएं। इस उपाय से जीवन में आर्थिक लाभ की प्राप्ति होती है कार्यों में समस्त बाधाएं भी दूर हो जाती है ।

7.एकादशी के दिन प्रांत: भगवान विष्णु की पूजा करते समय कुछ पैसे विष्णु भगवान की मूर्ति या तस्वीर के सामने रख दें। फिर पूजन करने के बाद यह पैसे अपने पर्स में रख लें। अब हर एकादशी को पूजन के समय यह सिक्के भी पर्स से निकाल कर पूजा में रखा करें और पूजन के बाद फिर से अपनी जेब में रख लें । इस उपाय को करने से कभी भी पैसों की तंगी नहीं रहती है।

8.पीपल में भगवान विष्णु का ही वास माना गया है। यदि आप कर्ज से परेशान है तो एकादशी के दिन पीपल के वृक्ष पर मीठा जल चढ़ाएं और शाम के समय दीपक लगाएं। इस उपाय से शीघ्र ही कर्ज मुक्ति के योग प्रबल होते है , कार्यों में सफलता मिलती है , धन टिकता है ।

9.एकादशी के दिन सांय के समय तुलसी के पौधे के सामने गाय के घी का दीपक जलाकर और ऊँ वासुदेवाय नम: मंत्र बोलते हुुए तुलसी की 11 परिक्रमा करें । इस उपाय से घर के सदस्यों के मध्य प्रेम, सुख-शांति बनी रहती है उस परिवार पर किसी भी प्रकार का कोई संकट नहीं आता है।

10.एकादशी के दिन रात्रि में भगवान विष्णु के सामने नौ बत्तियों का दीपक जलाएं और एक दीपक ऐसा जलाएं जो रात भर जलता रहे। इससे माँ लक्ष्मी अत्यंत प्रसन्न होती है। उस जातक को जीवन में सभी सुख और ऐश्वर्य प्राप्त होते है।

Loading...