जानें कैसी द‍िखती है अब वो जगह जहां कभी श्रीराम ने गुजारे थे वनवास के द‍िन !!

जानें कैसी द‍िखती है अब वो जगह जहां कभी श्रीराम ने गुजारे थे वनवास के द‍िन !!

जैसा कि हम सब जानते हैं राजा दशरथ ने अपनी पत्नी के वचन के कारण पुरुषोत्तम श्री राम को 14 साल का वनवास दिया था। और मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम ने भी पिता की आज्ञा का पालन करते हुए 14 वर्ष वनवास में बिताए थे ।इस दौरान उनका नासिक पंचवटी में काफी समय बिता था। तो आईए जानते हैं कि वनवास के दौरान श्रीराम ने जिन जगहों पर अपना समय बिताया था वर्तमान में यह जगह कैसी दिखाई देती है।

1 कुंड- नासिक पंचवटी में एक अरुणा नदी के किनारे इंद्र कुंड बना है कहते हैं कि जब महर्षि गौतम के श्राप के बाद इंद्र ने इस स्नान किया था तो उनके शरीर के छिद्र दूर हो गए थे।

2 कपालेश्वर- यह भी नासिक के पंचवटी का एक प्रसिद्ध स्थान है इसको लेकर मान्यता है कि यहां शंकर जी के हाथ में चिपका कपाल यानी कि ब्रह्मा का सिर गोदावरी स्नान से दूर हो गया था।



3 कालाराम मंदिर – पंचवटी गोदावरी से लगभग 2 फर्लांग पर बस्ती में यह कालाराम मंदिर बना है यह मंदिर काफी विशाल है यहां पर प्रभु श्री राम लक्ष्मण माता सीता की मूर्तियां रखी है।

4 पंचवटी गुफा-  गोदावरी से थोड़ी दूर पर वट वृक्ष को पंचवटी के नाम से जाना जाता है यहां पर वर्तमान में बैठ के 5 वृक्ष हैं और उनके पास एक मकान में गुफा बनी है जहां अंदर जाने पर राम लक्ष्मण सीता की छोटी मूर्तियां मिलती है।

5 नीलकंठेश्वर- रामकुंड के सामने नासिक में नीलकंठेश्वर शिव मंदिर बनाए इस मंदिर को लेकर मान्यता है कि महाराज जनक ने यहां यज्ञ कर के इस मूर्ति की स्थापना की थी।