हमारे हिंदू धर्म के कई शास्त्रों में इस बात का वर्णन मिलता है कि भगवान विष्णु क्षीरसागर यानी दूध के सागर में शेषनाग की शैया पर आराम करते