नारी;धार्मिक कहानी (Hindi Dharmik Kahani) “यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते रमन्ते तत्र देवता” महाभारत(mahabharat) की यह उक्ति हमें सदैव यह याद दिलाती रहती है कि नारी(Nari) का स्थान सर्वोपरी है।