Tag: mahakaal

जानिये कहाँ होता है हजारो शिवलिंग का एक साथ रोजाना अभिषेक …

भारत देश के दक्षिण में एक नदी है जिसका नाम है शलमाला यह नदी कर्नाटक के सिरसी शहर के पास बहती है | शलमाला नदी में बने शिवलिंग
Read More

जानिये कैसे महाकाल थे लंकादहन के असली कारण

हनुमान अवतार और लंकादहन सामान्यत: लंकादहन के संबंध में यही माना जाता है कि सीता की खोज करते हुए लंका पहुंचे और रावण के पुत्र सहित अनेक राक्षसों
Read More

जानिये कैसे महाकाल की वजह से शुरू हुआ वास्तु शास्त्र

मत्स्य पुराण के अनुसार प्राचीन काल में भयंकर अंधकासुर वध के समय विकराल रूपधारी भगवान शंकर के ललाट से पृथ्वी पर उनके स्वेद बिंदु गिरे थे, उससे एक
Read More

जब धरती से प्रकट हुए थे महादेव और महाकाल मंदिर का ऐसे हुआ निर्माण :

शिव पुराण के मुताबिक उज्जैन में बाबा महाकाल का मंदिर काफी प्राचीन है। इस मंदिर की स्थापना द्वापर युग में श्री कृष्ण के पालन करता नंद जी की
Read More

जानिये किन मंत्रो से करनी चाहिए शिव पूजा जिससे महादेव हो जाए प्रसन्न …….

शिव जी हिंदू धर्म के भगवान हैं। इन्हें देवों का देव महादेव भी कहा जाता है। शिवजी की आराधना का मूल मंत्र तो ऊं नम: शिवाय ही है।
Read More

जरूर पढ़िए; सबसे पहला शिवलिंग स्थापित होने की एक अद्भुत अनसुनी कहानी…!!!

भारतीय पौराणिक कथा (Indian Mythological Story) -यदि आप भगवान शिव(Shiv) के भक्त हैं और उन पर अटूट श्रद्धा रखते है । -आप यह अवश्य जानते होंगे की भगवान(Bhagwaan)
Read More

“महामृत्युंजय मंत्र” क्यों है भोले शंकर का प्रिय मंत्र ; जाने क्या है मंत्र जाप के लाभ..!!!!

महामृत्युंजय मंत्र- भारतीय पौराणिक कहानी(Indian Mythological Story) देवो के देव महादेव(Mahadev) सभी भक्तों पर अपनी कृपा करते है। महामृत्युंजय मंत्र(Mahamrityunjay Mantra) भोलेनाथ(Bholenath) का प्रिय मंत्र है यह एक
Read More

जलेश्वर महादेव; अद्भुत है भगवान शिव का 5000 वर्ष पुराना अस्तित्व का प्रतीक…!!!

भारतीय पौराणिक कथा(Indian Mythological Stories) हिन्दू धर्म में बहुत से देवी देवता हैं जिनमें से ब्रम्हा(Brahma), विष्णु(Vishnu) और महेश(Mahesh) प्रमुख हैं। इन सभी देवताओं का अपना अलग-अलग महत्व
Read More

क्या आप जानते है महादेव पर चढे प्रसाद को खाने से लगता है पाप? जानिये क्या है इसका कारण !!

क्या आप जानते है महादेव पर चढे प्रसाद को खाने से लगता है पाप? भगवान के मंदिर में भी हम प्रसाद चढ़ाते हैं और वहां प्रसाद का कुछ
Read More

शिवजी ने नहीं लिया कोई भी अवतार, फिर भी हैं उनके इतने रूप!!! जानिये!!

भगवान शिव की इन आठ स्वरुप में समाया है पूरा संसार ! हिन्दू धर्म मान्यताओं भगवान शिव स्वयंप्रकृति का रूप है। यही कारण है कि शिव एक मात्र
Read More