भगवान शिव की इन आठ स्वरुप में समाया है पूरा संसार ! हिन्दू धर्म मान्यताओं भगवान शिव स्वयंप्रकृति का रूप है। यही कारण है कि शिव एक मात्र