आज जानिये की घर की किन 8 जगहों पर स्वस्तिक बनाने से मिटेगा घर का हर एक दुख !!

आज जानिये की घर की किन 8 जगहों पर स्वस्तिक बनाने से मिटेगा घर का हर एक दुख !!

स्वास्तिक शब्द सू और अस्थि से मिलकर बना है सु का मतलब होता है शुभ और अच्छा अस्ति का मतलब होता है होना ।मतलब जो शुभ और कल्याणकारी है वह है स्वास्तिक ।स्वास्तिक  को विघ्नहर्ता भगवान गणेश का भी रूप माना गया है ।स्वस्तिक लक्ष्मी का भी प्रतीक चिन्ह माना गया है आज हम आपको स्वास्तिक से जुड़े ऐसे उपाय बताने जा रहे हैं जिससे आपके घर का हर एक संकट मिटेगा और साथी आपकी कंगाली भी मिट जाएगी।


1.मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिये
घर के बाहर रंगोली के साथ कुमकुम सिंदूर या रंगोली से स्वास्तिक बनाना मंगलकारी होता है ।इसे बनाने से देवी और देवता की कृपा घर पर बनी रहती है।


2.व्यापार को बढ़ाने के लिए

व्यापार को बढ़ाने के लिए सात गुरुवार तक उत्तर पूर्वी कोने को गंगाजल छिड़क कर हल्दी से स्वास्थ्य बनाए ।और उसकी पूजा करें तथा गुड़ का भोग लगाएं।
3.देवताओं को प्रसन्न करने के लिए

स्वास्थ्य बनाकर उसके ऊपर जिस भी देवता की मूर्ति रखी जाती है। वह तुरंत प्रसन्न होते हैं यदि आप अपने इष्ट देव की पूजा करते हैं तो उस स्थान पर स्वास्तिक बनाना ना भूलें।


4.मनोकामना सिद्धि हेतु

मंदिर में मनोकामना सिद्धि हेतु गया कुमकुम से उल्टा स्वास्तिक बनाए फिर जब मनोकामना पूर्ण हो जाए। तब वहां जाकर सीधा स्वास्थ्य बना कर आए।
5.नींद आने के लिए

रात को नींद ना आए तो सोने से पहले घर के मंदिर पर अनामिका उंगली से स्वास्तिक बनाए इससे स्वप्न आने व अनिंद्रा की समस्या दूर हो जाती है।


6.पितरों की कृपा के लिए

गोबर से स्वास्थ्य बनाए इसे घर में सुख शांति और समृद्धि आती है पितरों की कृपा भी प्राप्त होती है।
7.घर में सुख शांति के लिए

ईशान यानी उत्तर-पूर्व में उत्तर दिशा की दीवार पर हल्दी का स्वास्तिक बनाए इसे घर में सुख और शांति पर हमेशा बनी रहती है।
8.धन प्राप्ति के लिए

दहलीज के दोनों और स्वास्तिक बनाकर पूजा करें स्वास्तिक के ऊपर चावल की एक ढेरी बनाएं और एक ही सुपारी पर मौली बांधकर उसको ढेरी के ऊपर रख दें इस उपाय से धन लाभ होगा।