अगर बचना हो कुंडली में सूर्य दोष से,तो रविवार के दिन भूलकर भी न करें ये काम..!!!

अगर बचना हो कुंडली में सूर्य दोष से,तो रविवार के दिन भूलकर भी न करें ये काम..!!!

सप्ताह के सातों दिनों में से सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है आज का दिन यानि रविवार का दिन। क्योंकि ज्योतिष की दृष्टि से ये दिन ऐसा होता है जिसमें कुछ ऐसे कार्य करने की मनाही होती है जिन्हें अक्सर लोग कर लेते हैं।ज्योतिष शास्त्र के अनुसार हफ्ते के सातों दिन सौरमंडल में मौजूद किसी ना किसी ग्रह से जुड़े होते हैं। इन ग्रहों अपने से संबंधित दिन पर खास प्रभाव होता है।

शास्त्रों की मानें तो हमें यह मालूम होना चाहिए कि हमें किस दिन कौन सा कार्य नहीं करना चाहिए, ताकि भले ही लाभ ना हो लेकिन कम से कम हम ग्रहों के दुष्प्रभावों से अपना बचाव तो कर सकते हैं। आज हम आपको उन कामों के बारे में बता रहे है जो आपको रविवार के दिन नहीं करने चाहिए।

रविवार का दिन भगवान सूर्य का दिन होता है, इसदिन सूर्य ग्रह अपनी सबसे अधिक ऊर्जा लिए होता है। यहि दिन सूर्य का होता है। सूर्य ग्रह को सौरमंडल का राजा माना जाता है। नव ग्रह के सभी ग्रह सूर्य से ही अपनी ऊर्जा लेते हैं। संपूर्ण ब्राहमंड में सूर्य ही एकमात्र ऊर्जा का स्त्रोत है। रविवार को भूलकर भी गलती से भी नमक का नुक्सान न हो मतलब यह की गलती से भी नमक न गिरे या बेकार न जाए नमक का बेकार जाना शास्त्रों के अनुसार यह अशुभ माना जाता है।

इसके अलावा रविवार के दिन बाल न कटवाएं, सरसों के तेल की मालिश न करें, दूध को जलाने का काम न करें, तांबे की चीजों का क्रय-विक्रय न करें, इत्यादि। शास्त्रों में यह कहा गया है कि इसी सूर्य ग्रह की ऊर्जा से प्रजन, सृजन, उत्पत्ति और पुष्टिकरण तथा संहार का कर्म चलता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार भी जातक की कुंडली में सूर्य की स्थिति हमेशा सही होनी चाहिए।

 

॥ जय सूर्य देव ॥

Loading...