अगर आपके घर की स्त्री भी करती है यह 4 काम तो यह उसके और घऱ दोनों के लिये है महाश्राप के बराबर!!!

भूलकर भी स्त्रियों को नहीं करना चाहिए ये 4 काम !!

हमारे समाज में स्त्रियों, लड़कियों का बहुत ही ऊंचा दर्जा है उन्हें घर की लक्ष्मी माना जाता है ।जिनके बिना घर मंदिर के बजाए कुछ और ही बन जाता है। एक स्त्री किसी भी रुप में हो सकती है। फिर चाहे वह मां बहन पत्नियां दोस्त ही क्यों ना हो इस कारण इनकी रक्षा मान सम्मान करना हमारा फर्ज है। स्त्रियों को लेकर गरुड़ पुराण में कई ऐसी चीजें बताई गई है जो कि हमारे जीवन में बहुत ही ज्यादा प्रभाव डालती है
गरुड़ पुराण हिंदू धर्म का एक ग्रंथ है। इसे वेदव्यास ने रचा था जिसमें मृत्यु के बाद की घटनाएं प्रति लोग यमलोक नरक तथा 84 लाख योनियों के नर्क स्वरूपी जीवन आदी के बारे में विस्तार से बताया गया है।गरुड़ पुराण मैं यह बताया गया है कि स्त्रियों को किस बात का ध्यान रखना चाहिए जिससे उनका मन तो मन हमेशा बना रहे हैं आइए जानते हैं उन बातों के बारे में।

अपनों का ना करें अपमान-
कभी भी किसी का अपमान नहीं करना चाहिए नहीं तो आपको कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। साथ ही कभी भी अपने लोगों की बुराई करके पराए लोगों की हमदर्दी लेने की कोशिश ना करें पराई लोग आपके खुशहाल जीवन में समस्याएं ला सकते हैं।

किसी पराए के घर ना जाए-
कभी भी ऐसे घर में मत जाएं जिस घर के लोगों के बारे में आप नहीं जानती हो ना ही किसी पराए घर में रुकना चाहिए ।इससे आपको किसी बड़ी आपदा का भी सामना करना पड़ सकता है। पराए घर में रहने वाली स्त्री को घर परिवारों समाज से भी गलत नजर से देखा जाता है ।इस से आपके चरित्र संबंधित सवाल हो सकते हैं।

ज्यादा समय तकना रहे अपने पति से दूर
इस दौरान में बताया गया है अगर आपकी शादी हो चुकी है तो कोशिश करें कि अपनी पति से ज्यादा समय के लिए दूर ना रहे पार्टनर से बिरज स्त्री को मानसिक रुप से कमजोर कर सकता है।

बुरे चरित्र वालों के साथ संगत
कहां जाता है कि अगर आप बुरे लोगों के साथ रहेंगे तो समाज में उन्हीं में से आप की गिनती की जाएगी गलत आचरण के लोगों को संगत से कभी भी संकट की स्थिति बन सकती है। जिस व्यक्ति की सोच पलट हो वह कभी भी किसी अच्छे के बारे में नहीं सोच सकता अगर आप ऐसे लोगों के साथ है तो आप असुरक्षा अपमान आदि का सामना करना पड़ सकता है।