इस सावन शिवलिंग पूजा में की गई ये गलती पड़ सकती है भारी..!!भूलकर भी न करें..!!!

इस सावन शिवलिंग पूजा में की गई ये गलती पड़ सकती है भारी..!!भूलकर भी न करें..!!!

सावन के महीने में भगवान शिव की मूर्ति के साथ-साथ उनके शिवलिंग की पूजा की जाती है। जिस प्रकार से शिव की पूजा व व्रत में कई प्रकार की सावधानियां बरती जाती हैं,उसी तरह से शिवलिंग पर पूजा करते समय भी कई बातों का ध्यान रखना होता और खास कर सावन के महीने में ध्यान से पूजा करनी चाहिए क्योंकि सावन भगवान शिव को बेहद ही प्रिय है।

अक्सर देखा गया है मंदिरों में लोग सीधे जल लेकर जाते हैं और बिना नियम जाने अपने तरीके से पूजा करना शुरू कर देते हैं ऐसे में ये गलतियां उस मनुष्य को बहुत भारी पड़ सकती है और वो पाप का भागीदार बन सकता हैं।

इसलिए शिव के प्रकोप से बचने के लिए इन बातों को जान लेना ही बेहतर होता है।

  • मिट्टी आदि के शिवलिंग बनाकर उनकी पूजा करने दौरान यदि वह मिट्टी जितनी बार उसमें से गिरती है उतनी बार मनुष्य को नरक की अग्नि में झुलसना पड़ता है।
  • शिवलिंग पर पूजा के बाद पुरानी सामग्री को जल में विसर्जित कर देना चाहिए अन्यथा बड़ी हानि की संभावना रहती है।
  • यदि शिवलिंग को घर में स्थापित कर रखा है तो उसकी नियामनुसार पूजा करनी चाहिए। यदि आप ऐसा नहीं करते हैं तो शिव इसे अपना अनादर समझते हैं क्योंकि शिवलिंग शिव का ही एक निराकार रूप है।

  • इसके अलावा शिवलिंग पर कभी भी पैकेट की थेली दूध नहीं चढ़ाना चाहिए। उसे हमेशा स्टील के लोटे में डालकर चढ़ाना चाहिए।
  • शिवलिंग पर साफ एवं बिना खंडित हुए बिलपत्र ही चढ़ाना चाहिए।
  • ताज़े फूल ही चढ़ाना चाहिए, बासी और मुरझाये हुए फूल चढ़ाने से बचें ।

 

॥जय महाकाल ॥