भगवान शिव कभी माफ़ नहीं करते उनको जो करते है ये पाप!! कहीं आप तोह नहीं कर रहे!!! जानिये

सुखी जीवन चाहिए तो कभी ना करें ये पाप !!!

शिव का दूसरा नाम भोलेनाथ है और इसीलिए वह लोगों की गलतियों को बड़ी आसानी से माफ़ कर देते है।भगवान शिव जितनी जल्दी खुश होते है उतनी ही जल्दी नाराज़ भीअगर आप चाहते है शिव की कृपा आपके ऊपर बनी रहे तो उनकी पूजा ज़रूर करें भोलेनाथ को एक लोटा पानी चढाने से भी खुश हो जाते है, बस मन सच्चा होना चाहिए

भगवान शिव
भगवान शिव

शिव पुराण में में कुछ ऐसे कार्य, सोच और व्यवहार के उदाहरण दिए गए है जिनकी वजह से शिव नाराज़ हो सकते हैअगर कोई व्यक्ति इन पापों को करता है तो उसे भोलेनाथ के प्रकोप का भोगी बनना पढता है।कभी भी सुखी जीवन व्यतीत नहीं कर सकता।तो आईये देखते है इन अंत पापों के बारें में ताकि ये जान कर आप भविष्य में सचेत हो जाये

  1. शादी तोड़ने की कोशिश: भगवान शिव उन लोगों से सबसे पहले खफा होते है जो अपने रिश्ते में इमानदारी नहीं रख सकतेकभी भी किसी की शादी या रिश्ता न तुडवाये वर्ना शिव के गुस्से को सहना पढ़ सकता है. अगर आप किसी दुसरे के पति या पत्नी पे बुरी नज़र रखते हो तो भी शिवजी नाराज़ हो जाते है
  2. किसी को कष्ट देना: किसी को बेवजह कष्ट देना या नुक्सान पहुँचाना शिव जी की नज़रों में एक दंडनीय अपराध है कभी किसी भोले इंसान को दुःख मत पहुंचाए
  3. धोखेबाज़ी: धोखेबाज़ लोग सतर्क हो जाओ क्यूंकि भोलेनाथ उस व्यक्ति को कभी माफ़ नहीं करते जो किसी को धोखा देता हैधन के लिए या किसी लालच के लिए कभी किसी को धोखा न दे
  4. बुरी सोच: चाहे आप किसी का बुरा न करते हो लेकिन अगर बुरी सोच रखते हो तो आप दंड की श्रेणी में आते हो कभी किसी का बुरा न सोचे और न बुरा करें वर्ना शिव का प्रकोप सहना पढ़ सकता है
  5. स्वार्थ के लिए गलत मार्ग अपनाना: इस दुनिया में कई लोग गलत रास्ते पे चल पढ़ते है लेकिन सही दिशा मिलने पे सही मार्ग पे आ जाते है. ऐसे में कुछ लोग ऐसे होते है जो अपनी मर्ज़ी से बुराई का रास्ता चुनते है जो की शिव की नज़रों में एक बड़ा पाप है
  6. किसी के नुक्सान के लिए झूठ बोलना: किसी को हानि पहुँचाने के लिए झूठ बोलना एक बड़ा पाप है. छल करना शिव की नज़रों में अक्षम्य पाप है और आपको इससे बचना चाहिए
  7. गर्भवती महिला को कुवचन बोलना: शिव जी कभी उस व्यक्ति को माफ़ नहीं करते जो गर्भवती महिला को कटु शब्द बोलते है. इससे शिव का दिल दुखता है और वह ऐसे व्यक्ति को कभी माफ़ नहीं करते
  8. अफवाह फैलाना: समाज में अगर आप किसी के मान सम्मान को हानि पहुँचाने के लिए अफवाह फैलाते है तो ये भी शिव के आँखों में एक दंडनीय अपराध है

 

 

407 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published.