ज्योतिष शास्त्र में ये 3 राशियाँ है सभी राशियों मे सबसे झूठी !!! हमेशा बचकर रहे इनसे !!

ज्योतिष शास्त्र में ये 3 राशियाँ है सभी राशियों मे सबसे झूठी !!! हमेशा बचकर रहे इनसे !!

कहते हैं कि ‘वो झूठ जो किसी के हित में हो, सौ सच से भी कहीं बढ़कर है’। झूठ बोलना किस मकसद से है, यह तो परिस्थिति पर निर्भर करता है लेकिन इतना अवश्य है कि आज की तारीख में हर कोई कभी न कभी झूठ जरूर बोलता है।हालांकि, जरूर नहीं है कि झूठ बोलने का मकसद किसी को नुकसान पहुंचाना या अपने लाभ के लिए ही हो, यह परिस्थितिजन्य हो सकता है या बस मस्ती के लिए भी, लेकिन सही और गलत से परे आज हम आपको यहां बस यह बताने जा रहे हैं कि ज्योतिष शास्त्र किसे ज्यादा झूठ बोलने वाला मानता है।

जी हां, राशियों से किसी के व्यक्तित्व की इस खामी का भी पता चलता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कुल 12 राशियों में तीन राशियां ऐसी हैं जिसके जातक सबसे ज्यादा झूठ बोलते हैं।इन राशियों से जुड़े लोगों का झूठ अपने फायदे के लिए होता है, दूसरे के भले के लिए या केवल हास्य के लिए, यह उस विशेष परिस्थिति पर निर्भर करता है लेकिन इतना जरूर है कि ये अक्सर झूठ का सहारा लेते हैं और इन्होंने अगर आपसे अगर झूठ बोला तो आप उसे पकड़ नहीं पाएंगे।

1.मिथुन

सभी 12 राशियों में मिथुन को इस मामले में सबसे ज्यादा खतरनाक माना गया है। इन्हें अपनी भावनाएं दिखाना बेहद पसंद है और लोगों को उसे महसूस कराने के लिए कुछ भी बोल जाते हैं।मिथुन राशि की झूठ बोलने की इस आदत की सबसे बड़ी वजह होती है इनकी चंचलता। ये कभी भी अपनी बातों पर टिके नहीं रहते, कहते कुछ हैं और करते कुछ और ही हैं। इनका दिमाग और इनकी पसंद पल-पल बदलते हैं, सोच स्थिर नहीं होती, इसलिए जो भी कहते हैं उससे विपरीत ही करते दिखते हैं।

2.सिंह

इन्हें हमेशा ही लोगों के आकर्षण का केंद्र बनना पसंद होता है, इसके लिए ये कुछ भी कर जाते हैं। इनकी हरकतें इतनी नाटकीय होती हैं कि ये लोगों के आकर्षण का केंद्र बन भी जाते हैं। इन्हें दोस्ती करना पसंद है, लेकिन वह भी ज्यादातर झूठ की बुनियाद पर ही होता है इसलिए इनके रिश्ते स्थायी नहीं होते।

3.मीन

इस राशि के लोगों का झूठ थोड़ा अलग होता है। ये हमेशा झूठ नहीं बोलते, लेकिन जिन्हें पसंद नहीं करते उनसे झूठ बोलने में कोई हिचक नहीं करते। किसी से अगर ये झूठ बोल रहे हैं, इसका अर्थ यह है उसका इनके जीवन में ज्यादा महत्व है नहीं, या अगर है तो आगे वह उनके जीवन में नहीं रहने वाला। ये दोस्ती और रिश्तों को बहुत महत्व देते हैं, इसीलिए ज्यादातर ये अपने करीबियों से झूठ बोलने से बचते हैं। हालांकि इनकी एक कमी यह होती है कि अगर किसी भी रिश्ते में विरोधाभास की स्थिति आई तो ये हमेशा खुद को ही भुक्तभोगी दिखाना चाहते हैं। इसके लिए ये झूठ बोलने से भी नहीं चूकते और इतने आत्मविश्वास के साथ झूठ बोलते हैं कि आप बिल्कुल उसे पकड़ नहीं सकते।

Loading...