हर सोमवार अगर करेंगे इस विधी से कालो के काल महाकाल का पूजन तो महाकाल खुद देंगे आपको मनचाहा वरदान !!

हर सोमवार अगर करेंगे इस विधी से कालो के काल महाकाल का पूजन तो महाकाल खुद देंगे आपको मनचाहा वरदान !!

जैसा की आप सब जानते हैं भगवान शिव को भोलेनाथ भी कहा जाता है। क्योंकि वे अत्यंत भोले होते हैं। और साथ ही सोमवार का दिन भगवान शिव को समर्पित किया जाता है। अगर कोई भक्त सच्चे मन से भगवान शिव की पूजा अर्चना करता है तो भगवान शिव बहुत जल्द प्रसन्न हो जाते हैं आज हम आपको बताने जा रहे हैं भगवान शिव की पूजन विधि । अगर आप इस पूजन विधि के अनुसार भगवान शिव का पूजन करेंगे तो आपको भगवान भोलेनाथ प्रसन्न होकर मनचाहा वरदान देंगे।

सबसे पहले भगवान शिव की पूजा ध्यान से शुरु होनी चाहिए आपको ध्यान शिवलिंग के सामने करना होता है । ध्यान करने के बाद भगवान शिव की प्रतिमा के सामने दोनों हाथों से आवाहन करें।

इसके बाद भगवान शिव के प्रतिमा के पैर धोए भगवान शिव को अभिषेक स्वरुप तांबे के लोटे में जल लाकर शिवजी का अभिषेक करें। इसके बाद आचमन करें और इस दौरान मंत्रोच्चार करना ना भूले।

भगवान शिव का गाय के दूध से स्नान कराएं उसके बाद दही से स्नान कराये। फिर घी से,फिर शहद से,उसके बाद में शक्कर से स्नान भी करवाना चाहिए । इन फालतू चीजों के स्नान के बाद भगवान शिव के ऊपर जल चढ़ाएं। उसके बाद उन्हें वस्त्र पहना है फिर जनेऊ धारण करवाएं। फिर चंदन पाउडर जिसे सुगंधित चीजें अर्पण करें। फिर बाबा भोलेनाथ को अक्षत अर्पित करें। फूल अर्पित करे ।फिर बेलपत्र चढ़ाएं शिवजी को धूप अर्पण करें। उनकी प्रतिमा के सामने दीप जलाएं।

इसके बाद भगवान शिव को नैवेद्य चढ़ाएं। शिवजी को हरा पान  चढ़ाये।शिवजी के ऊपर दक्षिण स्वरूप धन चढ़ाएं। इसके बाद भगवान शिव की आरती करें आरती के बाद भगवान शिव की आधी परिक्रमा करना ना भूले । इसके बाद हाथों में पुष्प और जल लेकर शिव को अर्पित करें ।और सबसे अंत में शिव जी से क्षमा प्रार्थना करें।

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published.