अगर करते है रात के समय पूजा करें तो रखें इन बातों का ध्यान !! वरना पूजा नही देगी फल !!

अगर करते है रात के समय पूजा करें तो रखें इन बातों का ध्यान !! वरना पूजा नही देगी फल !!

हिंदू धर्म भगवान की पूजा करने का अधिक महत्व है किसी भी काम को शुरू करने से पहले पूजा करने का विधान है। माना जाता है कि अगर आपके मन में अशांति हो तो भगवान की आराधना करने से आपको कभी भी असफलता प्राप्त नहीं होगी साथ ही मन को भी शांति मिलेगी। हिंदू धर्म में पूजा का कोई समय की पाबंदी नहीं है इस समय से लेकर इस समय तक पूजा कर सकते हैं इसके बाद नहीं कर सकते सुबह से लेकर शाम किसी भी समय कर सकते हैं ।

भगवान हनुमान जी की पूजा के नियम है इसके अनुसार 12:00 से 1:00 के बीच इनकी पूजा नहीं की जानी चाहिए ऐसा इसलिए क्योंकि इस समय हनुमान जी लंका में होते हैं अन्य देवताओं के लिए ऐसे कोई नियम नहीं है। इसलिए देवताओं की पूजा दिन में भी होती है और रात में इनकी पूजा करते समय कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए जिससे आपको कोई समस्या ना हो और आपको पूजा का फल मिलेगा।

1. अगर आप सूर्यास्त के बाद पूजा कर रहे हैं तो भूलकर भी शंख नहीं बजाना चाहिए। क्योंकि सूर्यास्त के बाद देवी देवता सोने के लिए चले जाते हैं अगर आप शंख बजे आएंगे तो उसकी आवाज से उनकी निंद्रा बाधित होगी ।जिसके कारण आपको लाभ के बदले हानि का सामना करना पड़ सकता है।

2. शास्त्रों के अनुसार माना जाता है कि अगर आप किसी देवता की पूजा कर रहे हैं तो सूर्य की पूजा जरूर करना चाहिए। लेकिन सूर्यास्त के बाद इनकी पूजा नहीं करना चाहिए क्योंकि वह ढल जाते हैं जिससे के पूजा का फल नहीं मिलता।

3. तुलसी का पौधा बहुत ही पवित्र माना जाता है भगवान विष्णु कृष्ण सत्यनारायण की पूजा तुलसी के चढ़ावे के बिना अधूरी मानी जाती है लेकिन इसको रात को नहीं तोड़ना चाहिए क्योंकि रात के समय वह सोती है अगर आपको रात को ही जरूरत है तो पहले से ही तोड़ कर रख ले।

4. गणेश जी को दूर्वा चढ़ाना बहुत ही शुभ माना जाता है शास्त्रों में माना जाता है कि श्री गणेश जी दूर्वा चढ़ाने से जल्द प्रसन्न होते हैं। अगर आप को रात के समय इसकी जरूरत है तो शाम से पहले तोड़ने क्योंकि रात को तोड़ना शास्त्रों में वर्जित है।

5.अगर आप रात में पूजा कर रहे हैं तो पूजा में इस्तेमाल फूल, अक्षत और दूसरी चीजों को रात भर रहने दे उसी समय उनको ना हटाए दूसरे दिन उनको हटा देना चाहिए।

Loading...