पूजा स्थल पर नहीं रखनी चाहिए मृत पूर्वजों की तस्वीर नही तो आपके घर मे होंगे यह सब काम !!

पूजा स्थल पर नहीं रखनी चाहिए मृत पूर्वजों की तस्वीर नही तो आपके घर मे होंगे यह सब काम !!

हिंदू धर्म में पूजा एवं पूजा स्थल को लेकर काफी महत्व है हिंदू धर्म में रोजाना पूजा करने को जरूरी माना गया है। ऐसी मान्यता है कि रोजाना पूजा करने से देवी देवता प्रसन्न रहते हैं हमें आशीर्वाद देते हैं साथ ही पूजा करने से मन भी शांत रहता है।

हिंदू धर्म में पूजा सही विधि एवं सामग्री से की जाए इस का भी ख्याल रखा जाता है। इसके बाद कैदी तीसरी किसी बात को सबसे अधिक महत्व दिया जाता है वह पूजा करने का स्थल जैसे कि मंदिर या फिर घर में ही मंदिर का रूप देखकर बनाया गया पूजा स्थल।

हिंदू परिवारों में अमूमन पूजा घरों में भगवान की मूर्तियों के अलावा भी कुछ तस्वीरें पाएंगे यह तस्वीरें देवी देवताओं की भी होती है ।इसके अलावा जो लोग संत महात्मा पर विश्वास करते हैं मैं उनकी तस्वीर भी पूजा घर में लगाते हैं। लेकिन इसके अलावा कुछ लोग अपने मृत पूर्वज या फिर परिजनों की तस्वीर में पूजा घर में लगाते हैं। ऐसा कभी ना करें शास्त्रों के अनुसार कभी भी पूजा घर में मृत हो चुके व्यक्ति की कोई भी व्यक्ति या तस्वीर को बिल्कुल भी नहीं होना चाहिए ।और शास्त्रों की दृष्टि से अशुभ है इससे आपकी पूजा बेकार हो जाती है और घर परिवार पर संकट भी आते हैं।

कुछ लोग जो अपने मृत परिजनों को बेहद प्रेम करते हैं मैं उनके चले जाने के बाद उन्हें सम्मान देने हेतु मंदिर में उनकी तस्वीर लगाते हैं। लेकिन वास्तु शास्त्र के अनुसार ऐसा नहीं करना चाहिए। केवल पूजा घर मे मूर्तियों के साथ ही नही वरन पूजा घर की दीवारों पर भी मृत परिजनों की तस्वीर नहीं होना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि ऐसा करने से देवी-देवता क्रोधित हो जाते हैं।

मृत परिजनों की तस्वीर पर लगाने के लिए घर की दक्षिण ,दक्षिण पश्चिम, एवं पश्चिम दिशा ही चूनी जानी चाहिए। यदि इसके अलावा किसी अन्य दिशा में मृत परिजनों की तस्वीर लगाई जाए तो यह घर में नकारात्मक ऊर्जा को लेकर आता है। जो सबसे पहले परिवार के लोगों की मानसिक अवस्था पर अटैक करता है।