रविवार के दिन और शाम के समय अगर करेंगे सूर्य देव को यह फूल अर्पित तो छोटे से लेकर बड़े सभी करेंगे आपका सम्मान !!

रविवार के दिन और शाम के समय अगर करेंगे सूर्य देव को यह फूल अर्पित तो छोटे से लेकर बड़े सभी करेंगे आपका सम्मान !!

जैसा कि आप सब जानते हैं हमारे सौरमंडल में नौ ग्रह है। और सूर्यग्रहण सभी ग्रहों में सर्वश्रेष्ठ माने जाते हैं । पुरानी कथाओं में सूर्य ग्रह को शनि देव का पिता माना गया है। अगर ज्योतिष विद्या की माने तो ऐसा माना गया है कि जिस व्यक्ति की कुंडली में सूर्य ग्रह शुभ होता है उसे हमेशा उच्च पद की प्राप्ति होती है । सिर्फ यही नहीं सूर्य के प्रभाव के वजह से ही उसकी ख्याति में अत्यधिक वृद्धि होती है।

ज्योतिष अनुसार सूर्य को सिंह राशि का स्वामी माना गया है जिसकी दशा 6 वर्ष के लिए होती है। सूर्य का रत्न माणिक्य है गाय और तांबा सोना एवं लाल वस्त्र आदि सूर्य की प्रिय वस्तुएं है सोना और तांबा सूर्य देव के प्रिय धातु माने गए हैं।

भविष्य पुराण के अनुसार यदि आप रविवार के दिन भगवान सूर्य को एक आक का फूल अर्पित करते हैं मनुष्य को दस अशरफिया मिलने जितना फल प्राप्त होता है।अगर आप रात के समय भगवान सूर्य को कदंब एवं मुकुर के फूल अर्पित करते हैं तो भी आपको बहुत पुण्य की प्राप्ति होती है।