भुलकर भी इस समय पीपल के पेड़ के पास ना जाये वरना खुद साथ ले आओगे परेशानिया !!

भुलकर भी इस समय पीपल के पेड़ के पास ना जाये वरना खुद साथ ले आओगे परेशानिया !!

हिंदू धर्म में पीपल के पेड़ को बहुत ही शुभ फल देने वाला कहा गया है । पीपल की पूजा अर्चना करने से उसे जल चढ़ाने से शुभ फलों की प्राप्ति होती है ।लेकिन अगर कुछ बातों का ध्यान रखा जाए तो यही आपके लिए परेशानी का कारण भी बन सकता है। धर्म ग्रंथों में पीपल के पेड़ से जुड़ी कई मान्यताओं के बारे में बताया गया है। आपको उसके बारे में बताने जा रहे हैं ।

1 पीपल के पेड़ पर सूर्योदय से पहले दरिद्र देवता का अधिकार होता है जबकि सूर्योदय के बाद देवी लक्ष्मी का अधिकार होता है। इसलिए सूर्योदय के बाद ही पीपल की पूजा की जाती है वह सूर्योदय के पहले पीपल के पास जाने की मनाही होती है ।

2  अगर आप पर शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या काल में पीपल की परिक्रमा और पूजन करते हैं । तो साढेसाती का प्रकोप कम हो जाता है।

3 पीपल की जड़ में भगवान विष्णु तने में केशव और शाखाओं में नारायण, पत्तों में श्री हरि और फल में सभी देवी देवताओं का वास होता है।

Loading...