महंगे रत्नों से ज्यादा कारगर और सस्ता उपाय ग्रहों की शांति हेतु….

इन पेड़ों की जडों से दूर करें विभिन्न ग्रहों के अशुभ प्रभाव..!!!

ग्रहों से संबंधित पेड़ों की जड़ें
ग्रहों से संबंधित पेड़ों की जड़ें

ज्योतिष के अनुसार रत्नों से प्राप्त होने वाला शुभ प्रभाव अलग-अलग ग्रहों से संबंधित पेड़ों की जड़ों को धारण करके भी प्राप्त किया जा सकता है। तो आइये जानते है विभिन्न ग्रहों के हिसाब से पेड़ की जड़ें:

  • सूर्य: बेल पत्र की जड़ ऊँ भास्कराय ह्रीं मंत्र का जाप करने के पश्चात गुलाबी धागे से धारण करें।
  • चंद्र : खिरनी की जड़, ऊँ श्रां श्रीं श्रौं स:चंद्रमसे नम: मंत्र का जाप कर के सफेद धागे में धारण करें।
  • मंगल: अनंतमूल अथवा खेर की जड़ ऊँ अं अंगारकाय नम: मंत्र का जाप कर के नारंगी धागे से धारण करें।

  • बुध: विधारा (आंधी झाड़ा) की जड़ ऊँ बुं बुधाय नम: मंत्र का जाप कर के हरे रंग के धागे में धारण करें।
  • गुरु: शुद्ध और ताजी हल्दी की गाँठ अथवा केले की जड़ पीले धागे में, ॐ बृं बृहस्पतये नम: मंत्र का जप करके धारण करें।
  • शुक्र: गुलर की जड़, ऊँ शुं शुक्राय नम: मंत्र का जाप कर सफेद धागे में धारण करें।

  • शनि: बिच्छू या बिच्छौल की घांस अथवा शमी पेड़ की जड़ को ऊँ शं शनैश्चराय नम: मंत्र का जाप कर नीले धागे में धारण करें।
  • राहु: सफेद चंदन का टुकड़ा भूरे धागे में ऊँ रां राहुए नम: मंत्र का जाप कर के धारण करें।
  • केतु: अश्वगन्धा की जड़, ऊँ कें केतवे नम: मंत्र का जाप करने के पश्चात, नारंगी धागे से धारण करें।

Loading...