Latest

हमेशा पूजा पाठ करते समय इनसभी बातों का रखेंगे ध्यान तो घर में आएगी सुख समृद्धि एवम् खुशहाली….!!!!

शास्त्रों में पूजा करने के कुछ खास नियम बताए गए हैं. इन नियमों का पालन करने पर घर में सुख-समृद्धि एवम् शाँति बनी रहती है.
Read More

अगर आपके घर में शिवलिंग है तो रखें इन ज़रूरी बातों का खास ध्यान…!!

घर में हर कोई शिवलिंग स्थापित करना चाहता है लेकिन ऐसा करने से पहले कुछ बातों का खास ध्यान रखना पड़ता है. जानिए क्या तरीका है घर में
Read More

क्यों किया जाता है महाकाल का पंचामृत से अभिषेक… जानिए…!!!

भगवान महाकाल हर मनोकामना को पूरी करने वाले हैं. अगर सच्चे मन से उनकी भक्ति की जाए जो वह हर इक्षा पूरी कर देते हैं. लेकिन भोलेबाबा की
Read More

जानिए मुंबई स्थित श्री सिद्धिविनायक मंदिर के बारे मे सबकुछ जो आभी तक आपको नही पता…!!!!

श्री सिद्धिविनायक मंदिर देश में स्थित सबसे पूजनीय मंदिरों में से एक है. यह मंदिर भगवान गणेश को समर्पित है. मुंबई स्थित सिद्धिविनायक मंदिर का निर्माण 1801 में
Read More

जानिए भारत के 5 सबसे ज़्यादा आमिर मंदिरो के नाम…!!!!

1. पदमनाभ स्वामी मंदिर, त्रिवेंद्र : पदमनाभ स्वामी मंदिर भारत का सबसे अमीर मंदिर है। यह  त्रिवेंद्रम शहर के बीच स्थित है। इस मंदिर की देखभाल त्रावणकोर के
Read More

रावण द्वारा रचित शिव तांडव स्तोत्र का पाठ करने से होती है हर प्रकार की सिद्धि……

शिव तांडव स्‍त्रोत जटाटवीगलज्जल प्रवाहपावितस्थले गलेऽवलम्ब्य लम्बितां भुजंगतुंगमालिकाम्‌। डमड्डमड्डमड्डमनिनादवड्डमर्वयं चकार चंडतांडवं तनोतु नः शिवः शिवम ॥1॥ सघन जटामंडल रूप वन से प्रवाहित होकर श्री गंगाजी की धाराएँ जिन
Read More

जानिये कैसे महकाल हरेंगे आपके काल को …

  कालों के काल महाकाल शिव शंकर की महिमा से जुड़ी कई पौराणिक कथाएं हैं. कहते हैं कि देवों के देव महादेव को प्रसन्न करना बहुत आसान है.
Read More

जानिये महाकाल के किस वरदान की वजह से देवता हो गए असहाय…!!!

दानव गुरु शुक्राचार्य के संबंध में काशी खंड महाभारत जैसे ग्रंथों में कई कथाएं वर्णित हैं। शुक्राचार्य भृगु महर्षि के पुत्र थे। देवताओं के गुरु बृहस्पति अंगीरस के
Read More

जाने अर्धनारीश्वर महाकाल का रहस्य….!!!

अर्द्धनारीश्वर शिव   सृष्टि के प्रारंभ में जब ब्रह्माजी द्वारा रची गई मानसिक सृष्टि विस्तार न पा सकी, तब ब्रह्माजी को बहुत दुःख हुआ। उसी समय आकाशवाणी हुई ब्रह्मन्!
Read More