अगर चाहते है अपने घर से नकारात्मक ऊर्जा दूर करना तो अपनाएं ये उपाय..!!

अगर चाहते है अपने घर से नकारात्मक ऊर्जा दूर करना तो अपनाएं ये उपाय..!!

घर से नकारात्मक ऊर्जा दूर करना तो अपनाएं ये उपाय
घर से नकारात्मक ऊर्जा दूर करना तो अपनाएं ये उपाय

हमारा घर हमारे लिए बहुत महत्व रखता है।जब भी थके हारे अपने घर में जाते है तो हमें सुकून महसूस होता है।लेकिन अगर आपको ऐसा लगता है कि घर में घुसते ही तनाव का माहौल भर उठता है और मन में उदासी होने लगती है तो समझ जान चाहिए की नकरात्मक ऊर्जा है जिसको दूर करने के लिए आपको जरुर आजमाने चाहिये ये तरीके:

  • घर को पेंट कराएँ – हमारी नकारात्मक ऊर्जा केवल हमारे साथ नहीं चलती बल्कि हम जिन चीजों का इस्तेमाल करते हैं उनमें बस जाती है इसलिए घर की पेंटिंग कराएं।
  • ताजी हवा एवं धूप अंदर आने दें – सूरज की किरणों घर से नकारात्मक ऊर्जा को दूर भगाने में बहुत की महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। घर की सारी खिडकियों व दरवाजों को खोलें और ताजी हवा को अंदर आने दें।
  • नमक के पानी से फर्श पोछें– एक बाल्टी पानी में एक कप मोटा नमक डालें और इस पानी से पूरे घर में पोछा लगाएं। नमक को काफी शुभ माना जाता है। नमक आपके घर में नकारात्मकता को प्रवेश करने से रोकता है। घर के माहौल को सकारात्मक बनाए रखना चाहते हैं तो माह में एक दिन इस नमक वाले पानी से अपने घर में पोछा लगाएं।
  • अगरबत्ती या धूप जलाएं– अगरबत्ती और धूप में मौजूद खुशबू आपके घर को महक से भर देगी। ये सुगंधित चीजें आपके घर को एक नई ऊर्जा के साथ भरती हैं।
  • तिल का तेल जलाएं-कहते हैं कि तिल के तेल को जलाने से आपके आस-पास बुरी शक्तियां नहीं भटकती। यह काला जादू को भी विफल करने की शक्ति रखता है।

  • भजन सुनें– यदि आपको कोई मंत्र आता है तो रोज सुबह नहाने के बाद उसका उच्चारण करें। इस तरह आपका मन शांत रहेगा एवं आप अपने दिन की शुरूआत सही तरीके से कर पाएंगे। यह आदत आपके ध्यान को केंद्रित रखती है एवं आपके मन में बुरे विचारों को पनपने से रोकती है।
  • पूजा व हवन करवाएं– घर में प्रवेश करने से पहले भगवान का आशीर्वाद लें। इसके लिए आप किसी पंडित को बुलाकर हवन या पूजा करवाएं। भगवान के आशीर्वाद से रखा गया पहला कदम आपके लिए शुभ साबित होगा।
  • ध्यान– ध्यान आपके विचलित मन को शांति से भरता है। ध्यान करने के बाद व्यक्ति को सुकून महसूस होता है। प्राणायाम वायु के माध्यम से आपके शरीर में मौजूद अशुद्धियों को बाहर निकालता है। प्राणायाम से आप अपनी भावनाओं पर काबू पा सकते हैं।
  • बेकार पड़ी चीज़ों को दान करें-अक्सर हमारे पास पुरानी चीज़ों का अंबार लगा होता है। इन पुरानी चीज़ों के साथ हमारी पुरानी यादें भी जुडी होती हैं। कुछ अच्छी तो कुछ बुरी। जब तक आप पुरानी चीजों को निकाल बाहर नहीं करेंगे नई चीजों के लिए स्थान नहीं बनेंगे। आप चाहें तो इन चीजों को दान में दे सकते हैं या बेच भी सकते हैं।
  • अपने घर को व्यवस्थित रखें-घर के कोनों की अच्छे से सफाई करें तथा टूटी व बेकार पडी चीजों को बाहर फेंके। अपने घर को साफ व सही ठंग से सजाकर रखें क्योंकि खूबसूरत वस्तु अपनी जगह पर सजी अच्छी लगती है। ऐसे सजे हुए घर में बैठकर आपको भी अच्छा महसूस होगा और इसका सीधा प्रभाव आपके मन पर पडेगा।

  • घर में पौधे लगाएं-पेड की छाया में मिलने वाला सुकून महलों की दीवारों में नहीं होता। इन पेडों की हरियाली और फूलों की सुंदरता किसी भी उदास चहरे पर मुस्कान बिखेर सकती है। बागवानी, खुद को व्यस्थ रखने का एक अच्छा तरीका है। यदि आपके घर में बागवानी के लिए स्थान हो तो उसे व्यर्थ ना जाने दें। आप चाहे तो बालकनी में भी कुछ गमले रख सकते हैं।

इन सब के अलावा आपकी सोच सकारात्मक होना चाहिए जहाँ अच्छी सोच होती है वहां नकरात्मकता नहीं रहती ।

 

 

Add a Comment

Your email address will not be published.