भुल से भी ना लगाये आइने को घर मे इस जगह वर्ना कर सकता है यह आपको बरबाद !!

भुल से भी ना लगाये आइने को घर मे इस जगह वर्ना कर सकता है यह आपको बरबाद !!

कहते हैं कि आईना हमेशा सच बोलता है हम दुनिया से चाहे कुछ भी छुपा लीजिए लेकिन जब आप आईने के सामने अपनी छवि निहारते हैं तो वह आपको दो टूक जवाब देता है। सामान्य जीवन ने आइना एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसे बेहद रहस्यमय भी कहा जाता है यह सामने वाले की फितरत से बखूबी वाकिफ तो होता है। लेकिन अगर इसका प्रयोग सही तरीके ऐसे नहीं किया जाए तो यह काफी घातक कभी साबित हो सकता है।

वास्तु शास्त्री की दुनिया में आईना एक बड़ी भूमिका निभाता है वह इसलिए क्योंकि इसके सही प्रयोग से घर की शांति बड़ी आसानी से वापस लाई जा सकती है। लेकिन अगर किसी गलत जगह रख दिया तो यह सुख-शांति को तबाह कर सकता है। शीशे के भीतर धन वैभव सौभाग्य और खुशहाली को आकर्षित करने की ताकत होती है। लेकिन अगर घर में जिस कोने में आपने आइना रखा है वह वास्तु के अनुकूल नहीं तो उसका उल्टा परिणाम भी हो सकता है।

चलीये आज हम आपको वास्तु शास्त्र से जुड़े आइने कि इसी खूबसूरती के बारे में बताते हैं जिसका बदसूरत रंग बेहद घातक साबित हो सकता है।

सबसे पहले हम आपको बता दें वास्तुशास्त्र में आने को इतना महत्वपूर्ण स्थान क्यों दिया गया। दरअसल वास्तु शास्त्र में यह माना जाता है कि आईने में उर्जा को आकर्षित करने और साथ ही उसका प्रतिरोध करने की शक्ति होती है।

अगर आईना वास्तु की दृष्टि से सही स्थान पर ना रखा गया तो बहुत सकारात्मक ऊर्जा को दूर भी कर सकता है नहीं तो नकारात्मक उर्जा को समाप्त कर वातावरण को सुंदरता प्रदान करता है। आपके घर या कमरे के लॉकर के सामने अगर आपने शिशा लगाया हुआ है तो यह आपकी आय और संपत्ति में वृद्धि करता है। आईने के भीतर उस लॉकर की छाया सकारात्मक ऊर्जा को अपनी ओर खींचती है । और व्यवसायिक दृष्टिकोण से यह उपयोगी सिद्ध होता है।

घर के लिए चौकोर आकार के आईने सर्वोत्तम साबित होते हैं। अगर आईने को घर के भीतर लगाना हो तो गोल या अंडाकार आईने से बचना चाहिए। साथ ही आईने को पूर्व या उत्तर की दीवार पर ही टांगना चाहिए । यह बात ध्यान रखने योग्य है कि किसी भी प्रकार के शिशे को जमीन से 4 या 5 फीट की ऊंचाई पर ही टांगना बेहतर साबित होगा।

24 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published.