सारे मंत्रो का ये मन्त्र है पिता , इसका चमत्कार देखे अपने नजरो के समाने देखे !!

सारे मंत्रो का ये मन्त्र है पिता , इसका चमत्कार देखे अपने नजरो के समाने देखे !!

भगवान शिव की पूजा के साथ-साथ उनके ॐ नाम के जाप करने के भी बहुत फायदे होते हैं ।ॐ मंत्र का जाप धार्मिक लिहाज से तो फायदेमंद है ही लेकिन इसके बहुत ज्यादा शारीरिक फायदे भी है सृष्टि के आरंभ में एक ध्वनि गूंजी ओम और पुरे ब्रम्हांड में इसकी गूंज फैल गई पुराणों में ऐसी कथा मिलती है।

इसी शब्द से भगवान शिव विष्णु और ब्रह्मा प्रकट हुए इसलिए ओम को सभी मंत्रों का बीज मंत्र और ध्वनियों एवं शब्दों की जननी कहा गया है।इस मंत्र के विषय में कहा जाता है कि ॐ शब्द के नियमित उच्चारण मात्र से शरीर में मौजूद आत्मा जागृत हो जाती है। और रोग एवं तनाव से मुक्ति मिलती है  आज हम आपको बताएंगे ओम का उच्चारण करने से आपके शरीर को क्या फायदे होते है।

ॐ और थायराइड -ओम का उच्चारण करने से गले में कंपन पैदा होती है जो कि थायराइड ग्रंथि पर सकारात्मक प्रभाव डालती है।

ॐ और घबराहट- अगर आपको घबराहट महसूस होती है तो आप आंखें बंद करके पांच बार गहरी सांस लेते हुए ओम का उच्चारण करें।

ॐ और तनाव- यह शरीर के विषैले तत्वों को दूर करता है इसलिए तनाव को दूर करता है।

ॐ और खून का प्रवाह –यह हार्ट को चुस्त दुरुस्त रखता है और खून का प्रवाह अच्छा करता है।

ॐ और पाचन- ॐ का उच्चारण करने से पाचन शक्ति में वृद्धि होती है।

ॐ और स्फूर्ति –ॐ का उच्चारण करने से शरीर में युवावस्था वाली स्फूर्ति का संचार होता है।
ॐ और थकान- ॐ का उच्चारण करने से थकान मिट जाती है और थकान मिटाने का इससे अच्छा और कोई उपाय ही नहीं है।


ॐ और नींद – नींद ना आने की समस्या इससे कुछ समय में ही दूर हो जाती है इसलिए बेड पर जाते ही इंसान को उनका उच्चारण करना चाहिए।
ॐ और फेफड़े –ॐ के उच्चारण से फेफड़े में दुरुस्ती आ जाती है।
ॐ और रीढ़ की हड्डी-ॐ के उच्चारण से कंपन पैदा होता है जो रीढ़ की हड्डी को मजबूती प्रदान करता है।

 

 

 

 

 

Loading...
Tags: