करना चाहते है मंगल दोष को अपने जीवन से दूर तो अपनाएं ये आसान से उपाय!!!

करना चाहते है मंगल दोष को अपने जीवन से दूर तो अपनाएं ये आसान से उपाय!!!

नवग्रहों में मंगल एक ऐसा ग्रह है जो कि ना केवल क्रूर है बल्कि उसे लेकर हर  मनुष्य को भय भी रहता है। भूमि पुत्र होने से मंगल को कृषि से जुड़ी चीजों का भी कारक माना जाता है, लेकिन साहसी और नव ग्रहों में सूर्य के बाद सेनापति की संज्ञा दिए जाने के कारण मंगल को पराक्रम साहस और शूरता का अधिपति ग्रह भी माना जाता है। मंगल शरीर में रक्त का कारक होता है अत: ज्योतिष शास्त्र में मंगल को लाल रंग का प्रतिनिधित्व करने वाला ग्रह माना जाता है।

करना चाहते है मंगल दोष को अपने जीवन से दूर तो अपनाएं ये आसान से उपाय!!!
करना चाहते है मंगल दोष को अपने जीवन से दूर तो अपनाएं ये आसान से उपाय!!!

कुंडली में यदि मंगल दोष है जिसकी वजह से व्यक्ति को विवाह संबंधी परेशानियों, रक्त संबंधी बीमारियों और भूमि-भवन के सुख में कमियां रहती हैं। कुंडली में जब लग्न भाव, चतुर्थ भाव, सप्तम भाव, अष्टम भाव और द्वादश भाव में मंगल स्थित होता है तब कुंडली में मंगल दोष माना जाता है। जानें- मंगल दोष का निवारण करने के लिए कौन-कौन से उपाय आजमाने चाहिए-

ये उपाय हैं बड़े काम के

मंगल गृह दोष शांति के लिए मंगलवार के दिन हनुमान जी के मन्त्र जाप व मंदिर मे गुड एवं चने का प्रसाद चढ़ाना चाहिए। तीन मुखी रुद्राक्ष मंगल ग्रह का प्रतिनिधित्त्व करता है। तीन मुखी रुद्राक्ष धारण करने से मंगल ग्रह जनित पीड़ाओं से भी मुक्ति मिलती है।

इन्हें भी आजमाएं

  • प्रतिदिन गणेशजी को गुड़ और लाल फूल चढ़ाएं और पूजा करते हुए 108 बार यह मंत्र पढ़ें ‘ ॐ गं गणपतये नमः’।
  • यदि स्वस्थ हों तो हर चार महीने में एक बार मंगलवार को रक्तदान करें।
  • मंगल यन्त्र की स्थापना करें और मंगल प्रार्थना करें।
  •  मंगलवार को सूर्योदय से लेकर अगले सूर्योदय तक का व्रत करें और इस अवधि में सिर्फ फल और दूध ही लें।
  • मंगल चंडिका मंत्र का नियमित जाप करें।
  • कुम्भ विवाह, विष्णु विवाह और अश्वत्थ विवाह कराएं।
  • प्रतिदिन हनुमान चालीसा पढ़ें।