अगर आप है महादेव के परम भक्त तो अपनायें माहदेव के जीवन से जुड़ी यह बातें फिर देखें शिव कैसे देते है हर पल आपका साथ !!

अगर आप है महादेव के परम भक्त तो अपनायें माहदेव के जीवन से जुड़ी यह बातें फिर देखें शिव कैसे देते है हर पल आपका साथ !!

भगवान शिव को देवों के देव कहते हैं। ये हिन्दू धर्म के प्रमुख देवताओं में से एक हैं। शिव के 108 नाम हैं और सबके अपने महत्व हैं। सालों से हम शिव जी की पूजा करते आ रहे हैं। क्या कभी आपने सोचा है कि इन्हें महादेव क्यों कहा जाता है। हालांकि इसके कई कारण हैं, लेकिन कहीं न कहीं जो प्रमुख कारण है वो है भगवान शिव के जीवन जीने का तरीका। जी हां, उनकी वेशभूषा से लेकर उनके शस्त्र में जीवन जीने का अद्भुत राज छुपा हुआ है। इसलिए कहा जाता है कि यदि जीवन को सही तरीके से जीना है तो भगवान शिव से सीखें।

ध्यान मुद्रा-मन की शांति

आज जैसा समय है उसमें मन की शांति बहुत जरूरी है। इसका जिन्दगी में बहुत महत्व है। यह हमें रोजमर्रा की परेशानियों से लडऩे की ताकत देता है और हमारे दिमाग को स्वस्थ रखने में मदद करता है।

जटा- शरीर और आत्मा का सामंजस्य दिखाता है

अगर आपको लाइफ में एक अच्छा स्टूडेंट बनना है तो उसके लिए आपके दिमाग और आत्मा का स्वस्थ होना बहुत जरूरी है। उसके लिए अपने मन, आत्मा और शरीर के बीच संतुलन रखना होगा। जिससे आप किसी से भी लड़ सकते हैं।

 तीसरी आंख- मन की आंखों से देखें

अगर हमे जिन्दगी में कुछ बनना है तो जो सोचा है उसे पूरा करना होगा। जो हमें लग रहा है कि हम नहीं कर पाएंगे और उसे पाने के लिए जी-जान से कोशिश करें तो आपको अपने ऊपर ही भरोसा नहीं होगा। यही सीख हमें मिलती है भगवान शिव से जो हो रहा है उसके परे की सोचें और उसे हासिल करने में लग जाएं।

त्रिशुल- मन, बुद्धि और अहंकार पर कंट्रोल

भगवान शिव का शस्त्र त्रिशुल हमें अपने मन , बुद्धि और अहंकार पर कंट्रोल रखना सिखाता है। यदि आपके पास सब कुछ है, तो आपको अहंकार आने लगता है । लेकिन जिन्दगी में आगे और सफल होना है तो अहंकार को कंट्रोल में रखना बहुत जरूरी है। जिस इंसान में घमंड नहीं होता उसकी बुद्धि और मन बेहतर तरीके से काम करते हैं।

नीलकंठ- बुराई को खत्म करना

गुस्सा हम सभी का सबसे बड़ा दुश्मन है, इस पर कंट्रोल रखना भी हमारी जिम्मेदारी है। गुस्सा अगर अंदर रह जाए तो जहर है और बाहर निकले तो दूसरों के लिए हानिकारक हो सकता है। तो अगली बार गुस्सा आए तो बाहर टहल लें या फिर गुस्से को कंट्रोल करने के लिए मार्शल आर्ट सीखें।

 डमरू- शरीर की सभी इच्छाओं से मुक्ति

भगवान शिव का डमरू यह सिखाता है कि आप अपनी सभी बुराइयों पर काबू पा सकें और ये सभी आपको हासिल होगा अच्छी डाइट और एक्सरसाइज से।

गले में नाग- अहंकार पर काबू

अंहकार आपका सबसे बड़ा दुश्मन है और यह गुस्से को जन्म देकर आपका स्वास्थ्य खराब कर देता है। तो अपने अंदर के अहंकार को खत्म करें और मानसिक और शारीरिक रूप से शांत रहने की कोशिश करें।