इस शुक्रवार पढ़िए..!!!माँ दुर्गा का चमत्कारी मंत्र,जिसके पढ़ने मात्र से ही खुल जाते है बंद किस्मत के ताले..!!!

इस शुक्रवार पढ़िए..!!!माँ दुर्गा का चमत्कारी मंत्र,जिसके पढ़ने मात्र से ही खुल जाते है बंद किस्मत के ताले..!!!

अगर आपको ऐसा लगता है आपका होता हुआ काम नहीं हो पा रहा है बहुत अड़चने आ रही है,तो आपकी सभी मुश्किलों  को खत्म करने ले लिए आज हम आपको मां दुर्गा के आठ शब्दों वालो उस चमत्कारिक  मंत्र के बारे में बताते है, जिसका उच्चारण करने से आपका जीवन सुख-समृद्धि से भर जाएगा।

माँ दुर्गा हिन्दुओं की प्रमुख देवी हैं जिन्हें केवल देवी ही बल्कि शक्ति भी कहते हैं। शक्ति सम्प्रदाय की वह मुख्य देवी हैं जिनकी तुलना परम ब्रह्म से की जाती है। वह युद्ध करने वाली देवी हैं। उनके बारे में मान्यता है कि वे शान्ति, समृद्धि तथा धर्म पर आघात करने वाली राक्षसी शक्तियों का विनाश करतीं हैं।

देवी दुर्गा का निरूपण सिंह पर सवार एक निर्भय स्त्री के रूप में की जाती है। वे अनेक हाथों से युक्त हैं जिनमें सभी में कोई न कोई शस्त्रास्त्र होता है। उन्होने महिषासुर नामक असुर का वध किया। हिन्दू ग्रन्थों में वे शिव की पत्नी पार्वती के रूप में वर्णित हैं

हिन्दू धर्म के देव ग्रंथों के अनुसार माता दुर्गा की उपासना के लिए आठ अक्षरों का 1 अद्भुत मंत्र है।

‘ॐ ह्रीं दुं दुर्गायै नम:’ 

यह आठ अक्षरों का भगवती दुर्गा का सिद्धि मंत्र है जिसका पाठ रक्तचन्दन की 108 दाने की माला से प्रतिदिन शुद्ध अवस्था में करना चाहिये। माता अवश्य प्रसन्न होंगी और आशीर्वाद देंगी और आपकी सभी मुश्किलें दूर करेंगी।

204 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published.