घर में है माँ लक्ष्मी की मूर्ति बदल दे दिशा !! बरसेगा धन !!

मंदिर और वास्तु शास्त्र का बहुत ही गहरा संबंध है मंदिर बनाते समय वास्तु के कुछ नियमों का ध्यान बेहद जरूरी है। अन्यथा घर में वास्तुदोष हो सकता है। तो आइए जानते हैं मंदिर से जुड़े हुए वास्तु के कुछ ऐसे नियम जिनका हमें ध्यान रखना चाहिए।

सबसे पहले तो मंदिर को घर के उत्तर पूर्व दिशा में  बनाना है। सबसे अच्छा माना जाता है मंदिर में देवी देवताओं की मूर्तियों या तस्वीरों की स्थापना घर के उत्तर पूर्व दिशा में करने से घर में धन की बरकत होती है। और हमेशा सकारात्मक वातावरण बना रहता है। मंदिर में भगवान गणेश भगवान कुबेर ,देवी लक्ष्मी और नवग्रह की स्थापना ऐसे करनी चाहिए कि उनका मुख दक्षिण दिशा की ओर होना चाहिए।
मंदिर में भगवान विष्णु और भगवान शिव की स्थापना दक्षिण दिशा की ओर करना चाहिए।