इस श्राद्ध पक्ष जानिए कैसे दूर हो सकता है कुंडली में बैठा पितृदोष..!!!

इस श्राद्ध पक्ष जानिए कैसे दूर हो सकता है कुंडली में बैठा पितृदोष..!!!

कुंडली में बैठा पितृदोष
कुंडली में बैठा पितृदोष

जिसकी कुंडली में पितृ दोष होता है |उसे अपने पूर्वजों का कोप भोगना पड़ता है | उसके जीवन में कोई काम नहीं बनते | स्वास्थ्य ठीक नहीं रहता | मन में निराशा रहती है | आज हम आपको बता रहें है श्राद्ध पक्ष के दिनों में कुछ साधारण से प्रयास करने से पितृ दोष शांत हो जाता है |

अश्विनी मास कृष्ण पक्ष में पितरों का श्राद्ध किया जाता है। अगर आप चाहते है कि आपके घर में सुख-शांति, धन-संपत्ति बनी रहे तो इस पितृपक्ष श्राद्ध में करें ये उपाय:

  • श्राद्ध के किसी भी दिन अपने पितरों के नाम पर दान-पुण्य करें। अगर आपको पितृदोष है तो इस दिन गाय, भिखारी तथा छोटे बच्चों को खाना खिलाएं और जितना संभव हो उतना दान दें। जिससे आपके सभी समस्या हल होगी और आप उन्नति करेगें।
  • पितृ पक्ष में आप पीपल के पूजन में दूध, दही, मीठा, फल, फूल, जल, जनेऊ जोड़ा चढ़ाने और दीप दिखाएं इससे आपकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होगी, क्योंकि माना जाता है पीपल के मूल में भगवान विष्णु, तने में भगवान शिव जी तथा अग्रभाग में भगवान ब्रह्मा जी का निवास है। अगर आपको पितृ दोष लगे है तो इसकी शांति के लिए पितृपक्ष में या फिर हर शनिवार पीपल के वृक्ष की पूजा करना चाहिए। साथ ही इस मंत्र का जाप करते रहें और कम से कम 108 बार पीपल की परिक्रमा करें- ऊं नमो भगवते वासुदेवाय।

  • पितृपक्ष में कौए को श्राद्ध का भोजन कराने से विशेष फल मिलता है। इसलिए अपने आसपास के वृक्ष पर बैठे कौओं और जलाशयों की मछलियों को चावल और घी मिलाकर बनाए गए लड्डू खिलाएं । इससे आपके ऊपर लगा पितृ दोष दूर हो जाएगा।
  • दूध से बनी खीर दक्षिण दिशा में पितृ की तस्वीर के सामने कंडे की धूनी लगाकर पितृ को अर्पित करें। ऐसा करनें से पितृ दोष में कमी आती है।

Loading...