आज जाने अधूरी है श्री कृष्ण की पूजा इन चीज़ो के बिना..!!जरूर पढ़े..!!!

आज जाने अधूरी है श्री कृष्ण की पूजा इन चीज़ो के बिना..!!जरूर पढ़े..!!!

धरती पर बढ़ चुके पाप के संहार के लिए भगवान विष्णु ने द्वापर युग में कृष्ण के रूप में अवतार लिया था। आज हम आपको कृष्ण पूजा किन चीजों के बिना भगवान कृष्ण की पूजा अधूरी होती है।

  • कृष्ण पूजा में सबसे जरूरी होता है आसन, जिसपर भगवान कृष्ण की स्थापना की जाती है। भगवान कृष्ण के लिए आसन बहुत खूबसूरत होना चाहिए। इसका रंग तेज और चमकीला, जैसे लाल, पीला, नारंगी, हो तो बेहतर रहेगा।
  • जिस बर्तन में भगवान कृष्ण के पांव धोये जाते हैं उसे पाघ कहा जाता है। पूजा करने से पहले पाघ में स्वच्छ जल और फूलों की पंखुड़ियां डालें और उससे भगवान कृष्ण के चरणों को धोएं।
  • दूध, दही, घी, शहद और शक्कर के मिश्रण से पंचामृत बनाकर उसे किसी शुद्ध बर्तन में भरें और फिर उस पंचामृत से भगवान कृष्ण को भोग लगाएं।
  • पूजा में उपयोग होने वाले , कुमकुम, चावल, अबीर, अगरु, सुगंधित फूल और शुद्ध जल को अनुलेपन नाम दिया गया है। श्रीकृष्ण में इन सभी का होना आवश्यक होता है।

  • आचमन, यानि पूजा से पूर्व हाथों को जल धोने की क्रिया, में प्रयोग किए जाने वाले जल को आचमनीय कहा जाता है। यह शुध जल और सुगंधित फूलों का मिश्रण होता है।
  • पूजा करने से पहले श्रीकृष्ण को सुगंधित फूलों, दूध, दही, इत्र आदि से स्नान करवाया जाता है, जिसे स्नानीय नाम दिया गया है।
  • अगर घर में श्रीकृष्ण की पूजा रखवाई गई है या फिर जन्माष्टमी की पूजा के दौरान कृष्ण को जो भोज लगाया जाता है उसमें ताज़े फल, मिठाइयां, लड्डू, मिश्री, खीर, तुलसी के पत्ते और फल शामिल होते हैं।
  • सुगंधित धूप भगवान कृष्ण को बहुत प्रिय होती है, उनकी पूजा में धूप अवश्य जलाएं।
  • चांदी, तांबे, मिट्टी या फिर अन्य किसी धातु से बने दिए में गाय का शुद्ध देसी घी डालकर श्रीकृष्ण की मूर्ति के सामने प्रज्वलित करना चाहिए।

आपको बताए गए सभी पदार्थ या चीजें श्रीकृष्ण की पूजा के लिए बहुत जरूरी है, इसका अवश्य ध्यान रखें नहीं तो पूजा अधूरी मानी जाती है।