जानिए..!!क्यों भगवान कृष्ण ने अपने ही पुत्र को दी कोढ़ी होने की सज़ा…!!!

जानिए..!!क्यों भगवान कृष्ण ने अपने ही पुत्र को दी कोढ़ी होने की सज़ा…!!!

ये पढ़कर आपको हैरानी तो होगी लेकिन ये सच है पुराण में इस बात का उल्लेख है कि श्री कृष्ण ने स्वयं अपने पुत्र सांबा को कोढ़ी होने का श्राप दिया था। क्या कोई पिता ऐसा कर सकता है वो भी श्री कृष्ण जैसे पिता जिनके बारे में सुनते ही प्यार शब्द पहले मन में आता है क्या वे आपने पुत्र के साथ ऐसा कर सकते है  आइये जानते है श्री कृष्ण ने ऐसा क्यों किया तथा इसके पीछे क्या कारण रहा होगा ।

कथा के अनुसार निषादराज के राजा जामवंत की पुत्री जामवंती थी। जामवंत वे है जो रामायण और महाभारत दोनों काल में उपस्तिथ थे। ग्रंथों के अनुसार बहुमूल्य मणि हासिल करने के लिए भगवान श्रीकृष्ण और जामवंत में 28 दिनों तक युद्ध चला था ।युद्ध के दौरान जब जामवंत ने कृष्ण के स्वरूप को पहचान लिया तब उन्होंने मणि समेत अपनी पुत्री जामवंती का हाथ भी उन्हें सौंप दिया। तब उन्हें एक पुत्र की प्राप्ति हुई कृष्ण और जामवंती के पुत्र का नाम ही सांबा था। जो बहुत ही सुंदर और आकर्षक था कृष्ण की कई रानियाँ भी उसपर मोहित होती थीकुछ समय पश्चात सांबा बड़ा हुआ उसका विवाह भी हो गया।

एक दिन कृष्ण की एक रानी ने सांबा की पत्नी का रूप धारण कर सांबा को आलिंगन में भर लिया। उसी समय कृष्ण ने ऐसा करते हुए देख लिया।  क्रोधित होते हुए कृष्ण ने अपने ही पुत्र को कोढ़ी हो जाने का श्राप दिया ।तो इस तरह सांबा को कोढ़ी हो जाने का श्राप  मिल गया आपने पिता से ।वहीं पुराण में वर्णन मिलता है कि महर्षि कटक ने सांबा को इस कोढ़ से मुक्ति पाने हेतु सूर्य देव की अराधना करने के लिए कहा।

तब सांबा ने चंद्रभागा नदी के किनारे मित्रवन में सूर्य देव का मंदिर बनवाया और 12 वर्षों तक उन्होंने सूर्य देव की कड़ी तपस्या की।और सूर्य देव ने उन्हें कोढ़ मुक्त कर दिया ।

॥ जय श्री कृष्ण ॥

3 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published.