अदभुत दृश्य सुनहरा हो जाता है कैलाश सूर्य की किरण पड़ते ही ,बर्फ की बनती है ॐ की आकृति…!!!

अदभुत दृश्य सुनहरा हो जाता है कैलाश सूर्य की किरण पड़ते ही ,बर्फ की बनती है ॐ की आकृति…!!!

सुनहरा हो जाता है कैलाश सूर्य की किरण पड़ते ही

कैलाश पर्वत और मानसरोवर को धरती का केंद्र माना जाता है ।संस्कृत शब्द मानसरोवर मानस और सरोवर से मिलकर बना है मानस का अर्थ होता है मन यानि मानसरोवर मन का सरोवर है जहा जाते ही इंसान को अपार शांति का अनुभव होता है।यह हिमालय के केंद्र में है,और बहुत ही पवित्र जगह है जिसे शिव का धाम माना गया है ।इसके पास स्थित है कैलाश पर्वत जहाँ पर माना गया है भगवान् शिव साक्षात् रूप में विराजे हुए है ।पुराणी मान्यता है की यहाँ क्षेत्र स्वयंभू है यानि की खुद ही प्रकट हुआ है ।मानसरोवर हिन्दुओ का प्रमुख तीर्थ है ।

बर्फ की बनती है ॐ की आकृति

कैलाश मानसरोवर जहां का नाम सुनते ही मन में श्रद्धा और भक्ति की भावना जागृत हो जाती है। जहां जाना कठिन होता है लेकिन भगवान शिव के दर्शन करने हर साल हजारों श्रद्धालु इन कठिन रास्तों की परवाह किए बिना कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर जाते हैं।यहाँ पर देखने को मिलता है बहुत ही अदभुत नज़ारा जब भी  सूर्य की पहली किरणें जब कैलाश पर्वत पर पड़ती हैं तो यह पूर्ण रूप से सुनहरा हो जाता है। इतना ही नहीं, कैलाश मानसरोवर यात्रा के दौरान आपको पर्वत पर बर्फ से बने साक्षात ॐ के दर्शन हो जाते हैं। कैलाश मानसरोवर की यात्रा में हर कदम बढ़ाने पर दिव्यता का अहसास होता है। ऐसा लगता है मानो एक अलग ही दुनिया में आ गए हों।यह भगवान् की लीला ही तो है जो हमे एहसास दिलाती है वो हमारे पास है हमारे साथ है।

॥जय शिव शंकर भोलेनाथ॥