झूठ बोलने वालों को नहीं मिलता इन 5 कामों का पुण्य !! आप भी अगर बोलते है तो हो जाये सावधान !!

झूठ बोलने वालों को नहीं मिलता इन 5 कामों का पुण्य !! आप भी अगर बोलते है तो हो जाये सावधान !!

वाल्मीकि रामायण भगवान राम के जीवन और आदर्शों पर आधारित है और यह बहुत ही महत्वपूर्ण ग्रंथ है इसमें पांच ऐसे काम बताए है जो कि तब तक फल नहीं देते जब तक मनुष्य झूठ बोलना छोड़ दे। कोई चाहे कितनी भी कोशिश कर ले उसे अपने इन पांच पूर्ण कर्मों का फल नहीं मिलेगा जब तक की वह झूठ बोलना छोड़ दे तो आइए जानते हैं कि कौन से हैं वह पांच काम जिसे करने पर भी मनुष्य को उसका फल नहीं मिलता।

1 दान को हिंदू धर्म में बहुत ही महत्व दिया गया है। दान करने से मनुष्य अपने कई पापों को अपने से दूर कर सकता है । लेकिन यह बात बहुत ही कम लोग जानते होंगे कि दान भी तब तक फल नहीं देता जब तक मनुष्य झूठ बोलना छोड़ दे।

2 जो मनुष्य जल्दी उठकर स्नान करके भगवान की पूजा करता है उसके सभी काम सफल होते हैं। कई लोग ऐसा करने पर भी उसका फल नहीं मिल पाता इसका कारण झूठ बोलना है झूठ का साथ देना होता है इसलिए झूठ बोलने की आदत छोड़ दे।

3 जप भगवान को प्रसन्न करने का सबसे आसान तरीका कहा जाता है। लेकिन जप या ध्यान करने के कुछ नियम होते हैं छल-कपट मन में किसी तरह का झूठ होने पर जब कभी फल नहीं देता ऐसे भावों से किया गया जप या ध्यान देवता भी स्वीकार नहीं करते।

4.हवन करने से वातावरण शुद्ध हो जाता है और सारी नेगेटिव एनर्जी खत्म हो जाती है। लेकिन जो मनुष्य झूठ बोलता है उसके लिए यह पुण्य कर्म किसी काम का नहीं झूठ बोलने वाला मनुष्य हवन कर भी लेता है तो वह व्यर्थ चला जाता है और उसे इसका फल नहीं मिलता।

5. ग्रंथियां वेदों का पाठ करना कई लोगों की दिनचर्या का हिस्सा होता है लेकिन इसी के साथ झूठ बोलना भी आदत होती है। जो व्यक्ति फायदे के लिए झूठ का सहारा लेता है उसकी भक्ति उसे सफलता नहीं दिला सकती इसलिए इस आदत को त्याग दें।

Loading...