हनुमान जी का विशेष गुप्त पाठ केवल आधी रात में ही करे जप मुंहमांगी इच्छा होगी पूरी !!

हनुमान जी का विशेष गुप्त पाठ केवल आधी रात में ही करे जप मुंहमांगी इच्छा होगी पूरी !!

माना जाता है कि हनुमान चालीसा सुंदरकांड का पाठ करने या करवाने से बड़ी से बड़ी मुश्किल दूर हो जाती है लोगों में यह विश्वास है कि सुंदरकांड का पाठ करने वाले भक्तों की मनोकामना और विनम्र पूर्ण हो जाती है । रामचरित्र मानस के सभी अध्याय भगवान की भक्ति के लिए है लेकिन सुंदरकांड का महत्व अधिक बताया गया है । क्योंकि हमें भगवान राम के गुणों की नहीं बल्कि उनके भक्त हनुमान के गुणों और उसकी विजय की बात भी बताई गई है ।

आत्मविश्वास और मनोबल से किसी बड़ी परीक्षा में सफल होना हो तो परीक्षा से पहले सुंदरकांड का पाठ अवश्य करें विद्यार्थियों को सुंदरकांड का पाठ करना चाहिए । यह पाठ उनके भीतर आत्मविश्वास को जब आएगा और उन्हें सफलता के करीब ले जाएगा ।

सुंदरकांड का पाठ करते समय क्या करते समय घर के सभी सदस्यों को वहां होना आवश्यक है । सुंदरकांड का पाठ कर आने से घर में स्वर्ग सकारात्मक शक्तियों का प्रवाह होता है । साथी ग्रहों के दोष दूर करता है साथी यह पाठ घर के सभी सदस्यों के ऊपर मंडरा रहे अशुभ ग्रहों से छुटकारा दिलाता है ।

सुंदरकांड का पाठ विशेष रूप से शनिवार तथा मंगलवार को करने से सभी संकटों का नाश होता है और साथ में यह भी ध्यान रखें कि अगर यह पाठ रात में या फिर सुबह ब्रह्म मुहूर्त में किया जाए मतलब 4:00 बजे से 8:00 बजे के बीच में किया जाए तो यह और भी विशेष फलदाई देने वाला हो जाता है ।