जानिए गोबर से बनी इस गणपति मूर्ति के बारे में….!!!!

जानिए गोबर से बनी इस गणपति मूर्ति के बारे में….!!!!

माउंटआबू की गोबर गणेश की प्रतिमा

माउंटआबू में गोबर गणेश की प्रतिमा दुनिया भर में मशहूर है  । यह प्रतिमा ४५०० साल पुरानी है।

गणेश की प्रतिमा यहां बालरुप में विराजमान है । भगवान के दर्शन के लिए लगभग २०० सीढि़यों की चढ़ाई चढ़नी होती है ।इस मंदिर के दर्शन के लिए लाखो भक्त आते है । भक्तो का मानना है भगवान की इस मूर्ति के दर्शन करने से अलौकिक एहसास होता है।इस मंदिर के बारे में कई मान्यताएं है । ऐसी मान्यता है कि भगवान के दरबार में आकर जो कुछ भी मांगा जाए वो भक्त की मुराद ज़रूर पूरी करते है ।गणेश विघ्नहर्ता भी है लिहाजा उनके बारे मे ये कहा जाता है कि इस मूर्ति के दर्शन मात्र से ही श्रद्धालु के सभी कष्ट दूर हो जाते है ।वो भय के बंधनों से मुक्त होकर मोक्ष को प्राप्त होता है ।

 

भगवान गणपति पूरे अर्बुदांचल में विराजते है और जो भी भक्त उनसे जो भी मागंता है वो पूरी करते है । माउंटआबू में गणपति गौरी शिखर पुराणों में मां पार्वती के निवास स्थान के रूप में वर्णित है। उनके अनुसार ही प्रारंभ में इस स्थान का नाम अर्बुदांचल था। माउंट आबू में महाविनायक तीर्थ होने का वर्णन भी अर्बुद खंड में आता है, इसके अनुसार यह ३२  तीर्थो में पहला मुख्य तीर्थ है ।स्कन्द पुराण में वर्णन है कि इस पर्वत पर गणेश का जन्म होने के कारण इसके दर्शन मात्र से पापो का नाश होता है और व्यक्ति वैकुंठ लोक को प्राप्त होता है। यही वजह है कि श्रद्धालुओं में इस जगह को लेकर गहरी आस्था है। पुराणों में कहा गया है, ३३ करोड़ देवी-देवताओं के साथ भगवान शंकर ने अर्बुदारण्य की परिक्रमा की।ऋषि-मुनियों ने देवी-देवताओं के सहयोग से गोबर गणेश की प्रतिमा स्थापित की जो आज सिद्धिगणेश के नाम से जाना जाता है ।

गोबर गणेश मंदिर को कई अन्य नमो से भी जाना जाता है जैसे लंबोदर मंदिर,सिद्धिविनायक मंदिर,गोबर गणेश मंदिर या फिर सिद्धि गणेश मंदिर ।गोबर गणेश की ये प्रतिमा आज भी भव्य रुप में विराजमान है ।

भक्तों को गणपति के मंदिर की तीन परिक्रमा करनी चाहिए। भक्त जब  सच्चे मन से भगवान को पूजता है तो भगवान अवश्य उसकी सारी मनोकामना पूर्ण कर देते  है उसकी सारी चिंता हर लेते है ।भगवान गणेश को दुर्वा और मोदक बेहद प्रिय हैं। दुर्वा के बगैर उनकी पूजा अधूरी समझी जाती है। भगवान गणेश को तुलसी नहीं चढ़ती है। भगवान गणेश भक्तों की मनोकामना जरूर पूरी करते हैं।

भगवान गणेश आप सभी पर अपनी असीम कृपा बनाये।

॥गणपति की जय ॥