भुलकर भी नहीं करें बाएं हाथ से ऐसे काम, नहीं तो पड़ सकता है आपको पछ्ताना!!!

भुलकर भी नहीं करें बाएं हाथ से ऐसे काम, नहीं तो पड़ सकता है आपको पछ्ताना!!!

भारतीय संस्कृति ऐसे कई कार्य ऐसे हैं जिन्हें करने के लिए दाएं और बाएं हाथ के इस्तेमाल के विषय में बताया गया है। कुछ कार्य ऐसे भी हैं जिन्हें बाएं हाथ से करने की सख्त मनाही है। अनजाने में कई बार लोगों के द्वारा बाएं हाथ से ऐसे धार्मिक कार्य हो जाते हैं जिसके बाद हमें पछताना पड़ता है। शस्त्रो के अनुसार सभी धार्मिक कार्यों को बाएं की जगह दाएं हाथ से ही करना उचित माना गया है।

भुलकर भी नहीं करें बाएं हाथ से ऐसे काम, नहीं तो हो सकता है अशुभ!!!
भुलकर भी नहीं करें बाएं हाथ से ऐसे काम, नहीं तो हो सकता है अशुभ!!!

चाहे बात खाना खाने से लेकर पूजा करने तक की हो, हमेशा दाएं यानि सीधे हाथ का ही प्रयोग किया जाना चाहिए है। आइए जानते हैं हमारी संस्कृति में किन कार्यों को दाएं हाथ से करना शुभ माना गया है।

1.हिन्दू शास्त्रों में किसी भी प्रकार के कर्मकांड करते समय बाएं हाथ का प्रयोग करना वर्जित है। हवन के दौरान हवन सामग्री हमेशा दाएं हाथ से ही डालें। गलती से भी ऐसा करते समय बाएं हाथ का प्रयोग नहीं होना चाहिए।

2.  नवरात्र में कलश स्थापना के दौरान सबसे पहले दाएं हाथ को ही आगे बढ़ाया जाता है।

3.हमारे हृदय का हिस्सा बाईं ओर होता है और हमारे शरीर की प्रणाली कुछ इस तरीके से बनाई गई है कि हम अपने बाएं हाथ का प्रयोग दाएं हाथ के मुकाबले ठीक से नहीं कर पाते।

4. पूजा के समय दाहिना हाथ ठीक प्रकार से काम करता है, जबकि बाएं हाथ का इस्तेमाल करेंगे तो वह ठीक ढंग से कार्य नहीं कर पाएगा।

5. किसी भगवान की मूर्ति पर जल चढ़ाते समय, उन्हें भोजन अर्पित करते वक्त बाएं हाथ का प्रयोगनही करना चाहिये बल्की दाहिने हाथ का ही प्रयोग किया जाता है।

144 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published.