उज्जैन का प्रसिद्ध प्राचीन तांत्रिक मंदिर:चौंसठ योगिनी माता मंदिर..!!!

नवरात्री का पावन पर्व पूरे हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जा रहा है ऐसे में हम आपको माता रानी के मंदिरों के बारे में बता रहें है। आज हम जिस मंदिर की बात कर रहें है वो अनूठा है। यह मंदिर है उज्जैन का चौंसठ योगिनी माता मंदिर। उज्जैन के पुराने शहर के नयापुरा क्षेत्र में देवी के रूप में

चौंसठ योगिनी माता मंदिर
चौंसठ योगिनी माता मंदिर

चौंसठ योगिनियों का अनूठा मंदिर है।यह मंदिर एक प्रसिद्ध प्राचीन तांत्रिक मंदिर भी है ऐसे इसलिए क्यूंकि इसे तंत्र साधना और पूजा के लिए भी प्रमुख स्थान माना जाता है। मंदिर को एक जमाने में तांत्रिक विश्वविद्यालय कहा जाता था। उस दौर में इस मंदिर में तांत्रिक अनुष्ठान करके तांत्रिक सिद्धियां

हासिल करने के लिए तांत्रिकों का जमावड़ा लगा रहता था । मंदिर का नाम सुनकर भक्तों में मन में यह सवाल जरूर आता है कि यहां देवी रूप में चौंसठ प्रतिमाएं विराजित होगी लेकिन ऐसा नहीं है। उज्जैन के इस अद्भुत मंदिर में अलग – अलग चौंसठ प्रतिमाएं नहीं है।  कहा जाता हैं कि यहां कई प्रतिमाएं

योगिनियां देवी
योगिनियां देवी

हैं पर अलग-अलग संख्या में चौंसठ प्रतिमाएं विराजित नहीं है। यह भी मान्यता है कि राजा विक्रमादित्य के समय से चौंसठ योगिनियों का स्थान है। प्राचीन काल से यह मंदिर यहां विद्यमान है। योगिनियां देवी का स्वरूप ही हैं।

चौसठ योगिनी माता मंदिर में यूं तो वर्षभर ही दर्शन-पूजन के लिए भक्त आते रहते हैं और भक्त गण अपनी मुराद पूरी होने पर मां को प्रसाद चढ़ाते हैं लेकिन नवरात्रि के दौरान यहां प्रतिदिन अच्छी खासी रौनक देखने को  मिलती है इस दौरान यहाँ सैकड़ों श्रद्धालु आकर माँ के दर्शन पाते है ।

॥ जय माँ चौंसठ योगिनी ॥

Loading...