हिंदू धर्म के खास चमत्कारिक पांच सरोवर जहाँ स्नान करने से मिलती है पापों से मुक्ति..!!!

हिंदू धर्म के खास चमत्कारिक पांच सरोवर जहाँ स्नान करने से मिलती है पापों से मुक्ति..!!!

कलियुग में भी धरती पर ऐसे कई चमत्कारिक स्थल हैं जो ईश्वर के होने के प्रमाण को सिद्ध करते हैं। आज हम आपको धरती के कुछ ऐसे सरावरों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनका धार्मिक रूप से बहुत महत्वं है। इन सरोवरों के बारे में कहते हैं कि इनमें स्नान करने से पाप से मुक्ति मिल जाती है।भारत के इन पवित्र सरोवरों में स्नान करने से मनुष्य को आपने पापों से मुक्ति मिलती है। हज़ारों की संख्या में हर साल श्रद्धालु इन पवित्र सरोवरों में स्नान कर अपने पापों से मुक्ति पाते हैं।


तो चलिए जानते हैं इन खास सरावरों के बारे में जहाँ इंसान को आपने पाप से मुक्ति मिलती है :
1 – पंपा सरोवर
धार्मिक और ऐतिहासिक रूप से प्रसिद्ध पंपा सरोवर मैसूर के पास अनेगुंदी गांव में स्थित है। इस गांव को प्राचीन काल में किश्किंगधा कहा जाता था। इस गांव में पंपा सरोवर है। इसी सरोवर के पास एक शबरी गुफा भी है। कहते हैं कि इसी गुफा में भगवान राम ने शबरी के झूठे बेर खाए थे। पंपा सरोवर का संबंध रामायण काल से बताया जाता है।

पंपा सरोवर
पंपा सरोवर


2 – नारायण सरोवर
भगवान विष्णु को समर्पित नारायण सरोवर गुजरात के कच्छ जिले के तहसील लखपत में स्थित है। किवदंती है कि इस सरोवर में स्वयं भगवान विष्णु ने स्नान किया था। पौराणिक ग्रंथों और शास्त्रों में भी इस सरोवर के महत्व का उल्लेाख मिलता है।

नारायण सरोवर
नारायण सरोवर

3 – पुष्कर सरोवर
अजमेर से 14 किमी की दूरी पर पुष्कर में स्थित इस पवित्र सरोवर के पास ब्रह्मा जी ने अपने यज्ञ को संपन्न किया था। मान्यता है कि इस सरोवर में स्नान करने से मोक्ष की प्राप्ति होती है। कहते हैं कि भगवान राम ने भी अपने पिता राजा दशरथ की मृत्यु के पश्चानत् इसी सरोवर में उनका श्राद्ध किया था।

पुष्कर सरोवर
पुष्कर सरोवर


4 – बिंदु सरोवर
अहमदाबाद से 130 किमी की दूरी पर स्थित बिंदु सरोवर में स्नान करने से पाप से मुक्ति मिलती है। मान्यता है कि इस सरोवर के पास कर्दम ऋषि ने हज़ारों वर्ष तक तपस्या‍ की थी। इसके अलावा यह भी कहा जाता है कि इसी स्थान पर भगवान परशुराम ने अपनी माता का श्राद्ध भी किया था। इस कारण इस सरोवर का बहुत महत्व है।

बिंदु सरोवर
बिंदु सरोवर


5 – कैलाश मानसरोवर
मान्यता है कि कैलाश मानसरोवर में माता पार्वती स्नान किया करती थीं। कहते हैं कि इस सरोवर का निर्माण ब्रह्मा जी ने किया था। इसके पास ही भगवान शिव का निवास स्थ्ल कैलाश पर्वत भी है। इस कारण इस सरोवर का आध्यात्मिक महत्व कई गुना बढ़ जाता है।

कैलाश मानसरोवर
कैलाश मानसरोवर