अगर तोड़ा इन मे से एक भी दिन महादेव की पूजा के लिये बैल पत्र तो होंगे आप भगवान शिव के क्रोध का शिकार !!

अगर तोड़ा इन मे से एक भी दिन बैल पत्र तो होंगे आप भगवान शिव के क्रोध का शिकार !!

आप सब जानते हैं बिल्वपत्र बहुत ही पवित्र पत्र माने गए हैं । क्योंकि यह शिव जी को चढ़ाए जाते हैं । आइए जानते हैं बिल्वपत्र से जुड़ी कुछ खास बातें जो शिव पूजा में ध्यान रखनी चाहिए ।

1 शिवलिंग पर चढ़े हुए बिल्वपत्रों को कई दिनों तक बार बार धोकर पुनः शिवजी को अर्पित किया जा सकता है ।

2 किसी भी माह के अष्टमी चतुर्दशी ,अमावस्या, पूर्णिमा तिथि और सोमवार को बिल्वपत्र नहीं तोड़ना चाहिए । एक दिन पहले ही तोड़े हुए पत्ते पूजन में उपयोग किए जाने चाहिए ।

3 यदि घर में है आप के बिल्ववृक्ष तो रविवार और द्वादशी तिथि एक साथ होने पर बिल्व वृक्ष का विशेष पूजन करना चाहिए । इस पूजन से महापाप से भी मुक्ति मिलती है और धन की कमी दूर होती है ।

4 घर में बिल्व वृक्ष लगाने से परिवार के सभी सदस्य कई प्रकार के पापों से मुक्त हो जाते हैं । इस वृक्ष के प्रभाव से सभी सदस्य यशस्वी होते हैं समाज में मान सम्मान मिलता है ऐसा शिव पुराण में बताया गया है ।

5 शास्त्रों में बताया गया है कि जिस स्थान पर बिल्व वृक्ष है  वह स्थान काशी तीर्थ के समान पूजनीय और पवित्र हे । ऐसी जगह जाने पर अक्षय पुण्य की प्राप्ति होती है ।

6 बेल का वृक्ष घर के उत्तर पश्चिम में हो तो यश पड़ता है उत्तर दक्षिण में हो तो सुख शांति बढ़ती है और बीच में हो तो जीवन मधुर बनता है ।

2 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published.