आज जानिये इस तरह से बुरा वक्त आने से पहले भगवान हमें दे देते है सँभलने के लिये यह 8 संकेत !!

आज जानिये इस तरह से बुरा वक्त आने से पहले भगवान हमें दे देते है सँभलने के लिये यह 8 संकेत !!

बुरा वक्त जब भी किसी मनुष्य जीवन पर आता है तो उसके आसपास का माहौल सकारात्मक की जगह नकारात्मक होने लगता है। कुछ ऐसी चीजें होने लगती है जिससे हमें प्रकृति और भगवान की ओर से संकेत मिलने लग जाते हैं कि भविष्य में क्या होने वाला है। जो होना है वह तो होकर ही रहेगा कोई बदल नहीं सकता जैसा कि रामायण में भी वर्णित है अयोध्या के राजा दशरथ को ज्ञात था कि उनके पुत्र वियोग में मृत्यु होगी। वह चाह करके भी श्री राम को वनवास जाने से रोक नहीं पाए। इस तथ्य से सिद्ध होता है कि होनी को कोई नहीं टाल सकता। आइए आज हम आपको ऐसे कुछ 8 संकेत बताते हैं जिनसे आप यह जान सकते हैं कि आपका बुरा वक्त आने वाला है।


1 सिंदूर लगाते समय सुहागन की सिंदूर की डिबिया गिरना उसके पति के कारोबार के बुरे समय का संकेत है।
2 बेवक्त बिना वजह दूध का फटना इस बात का संते है कि आपके घर में कोई बड़ा कलेश होने वाला है या फिर जल्दी कोई बड़ी बीमारी आने की आशंका है।
3 बुरे सपनों का हर रोज आना इस बात का संकेत है कि घर में कोई कलेश होने वाला है इसे कारोबार मंदा होने के संकेत भी मिलते हैं। इन दोनों के साथ ही बुरे सपनों के बार बार आने पर यह परिवार के किसी सदस्य पर बड़ी मुसीबत आने की आशंका की भी पुष्टि करता है।


4 आपके घर के आसपास या आप की पहली हुई बिल्ली अगर अक्सर अलग-अलग तरह की आवाज निकाल रही है। और डर रही है तो समझिए कि आपके आसपास के परिवेश में कोई नकारात्मक उर्जा काम कर रही है। जो किसी समय या समस्याओं की वाहक हो सकती है।
5 मंगलसूत्र का अचानक टूट जाना पति के जीवन पर आने वाले संकट का संकेत देता है ऐसी स्थिति में तुलसी को पूजना चाहिए।
6 घर से निकलने पर आए दिन कहीं ना कहीं झगड़ा मारपीट देखने को मिले तो समझे कि किसी कोई क्लेश होगा या फिर आपसे रिश्तों में खटास आने की आशंका है।


7 खाना खाते समय पहले निवाले का कड़वा लगना और दूसरे का सामान्य लगना इस बात का संकेत देता है कि आपके रिश्तेदार के यहां से बुरी खबर आ सकती है इतना ही नहीं आपका कोई बनता हुआ काम भी या बनता हुआ रिश्ता भी बिगड़ सकता है।
8 अगर कभी पूजा पाठ के दौरान पूजन थाल गिर जाती है तो समझिए की आप से देवगढ़ आपसे नाराज हैं इसलिए पूजन विधि में सुधार की जरूरत है।

116 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published.