जानिये मालवा की वैष्णो देवी माता के बारे में …..

भादवा माता मंदिर

मालवा के पुण्यांचल में भादवामाता का मंदिर आरोग्य तीर्थ स्थल के रूप में प्रसिद्ध है।यह मंदिर नीमच जिले में मनासा रोड पर नीमच से १८ की.मी. दूर स्थित है | इस मंदिर को मालवा की वैष्णो देवी के नाम से भी पहचाना जाता है। कहा जाता है कि मां भादवा के दरबार में शारीरिक विकलांगता और मानसिक व्याधियों से मुक्ति मिलती है।

 

भादवा माता

इस मंदिर का सबसे बड़ा चमत्कार यह माना जाता है कि यहां हर रात माता अपने मंदिर के गर्भ गृह से निकलकर मंदिर के प्रांगण में टहलती हैं। टहलते समय माता की जिस पर भी दया दृष्टी पड़ जाती है वह सदा के लिए रोग मुक्त और सुखी हो जाता है। बहुत से भक्त इस स्थान से रोग मुक्त होकर अपने घर खुशी-खुशी वापस जाते हैं।

भादवा माता मंदिर

माता के इस चमत्कार के कारण यहां पूरे साल लकवा, कोढ़ और नेत्रहीनता से पीड़ित भक्तों का आना-जाना लगा रहता है। भादवा माता मंदिर के प्रांगण में एक प्राचीन बावड़ी है। कहा जाता है इस बावड़ी के विषय में मान्यता है कि भक्तों को रोग मुक्त करने के लिए माता ने यहां जमीन से जल निकाला था। इस बावड़ी पर माता की असीम कृपा है। लोग बताते हैं मंदिर का जल अमृत तुल्य है। माता ने कहा है कि जो भी इस बावड़ी के जल से स्नान करेगा, वह सदा के लिए रोग मुक्त हो जाएगा।

भादवा माता कुंड

रविवार को माता का विशेष आराधना दिवस माना जाता है। इसके साथ ही यहां वर्ष में दो बार चैत्र व अश्विन नवरात्र के पुण्य पर्वों पर विशेष मेला लगता है । इस दौरान यहां देश के कोने-कोने से लाखों श्रद्धालु मंदिर के दर्शन के साथ स्वास्थ्य लाभ लेने और मनवांछित मुरादे पाने आते हैं।

161 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published.