शिवरात्रि से पहले सपने में देखते हैं शिव से जुड़ी हुई ये चीजें तो, जानिए ये है उनका अर्थ.

सपना हर कोई देखता है. ये सपने ज़िंदगी से जुड़े रहते हैं और कभी-कभी तो इनका इस दुनिया से कोई वास्ता ही नहीं होता,

लेकिन बहुत से लोग ऐसे भी हैं जिन्‍हें सपने में भगवान शिव से संबंधित चीजे जैसे शिवलिंग, नाग, त्रिशूल या फिर शिव और पार्वती के सपने आते हैं.

अगर आपको भी ऐसे सपने आते हैं, तो परेशान ना हो, इसके पीछे कुछ खास बातें छुपी होती है.

शिव त्रिदेवों में एक देव हैं। इन्हें देवों के देव भी कहते हैं।

इन्हें महादेव, भोलेनाथ, शंकर, महेश, रुद्र, नीलकंठ के नाम से भी जाना जाता है। तंत्र साधना में इन्हे भैरव के नाम से भी जाना जाता है। हिन्दू धर्म के प्रमुख देवताओं में से हैं।

वेद में इनका नाम रुद्र है। यह व्यक्ति की चेतना के अन्तर्यामी हैं। इनकी अर्धाङ्गिनी (शक्ति) का नाम पार्वती है

इनके पुत्र कार्तिकेय और गणेश हैं, तथा पुत्री अशोक सुंदरी हैं। शिव अधिक्तर चित्रों में योगी के रूप में देखे जाते हैं और उनकी पूजा शिवलिंग तथा मूर्ति दोनों रूपों में की जाती है।

शिव के गले में नाग देवता विराजित हैं और हाथों में डमरू और त्रिशूल लिए हुए हैं। कैलाश में उनका वास है यह शैव मत के आधार है। इस मत में शिव के साथ शक्ति सर्व रूप में पूजित है।

1. शिव-पार्वती का एक साथ सपने में आना
अगर कभी आपने भगवान शिव और माता पार्वती को एक साथ सपने में देखा है तो परेशान ना हो इसका फल अच्छा होता है. अगर आपके सपने में शिव-पार्वती आते हैं तो इसका मतलब है कि आपको धन की प्राप्ति हो सकती है, साथ ही कोई अच्छी खबर भी आपको सुनने को मिल सकती है. शिव और पार्वती को एक साथ देखना काफी अच्‍छा शगुन माना जाता है.

2. तांडव करते हुए शिव जी को देखना
सपने में कभी भी आपको अगर भगवान शिव तांडव करते हुए नजर आएं तो इसका फल भी शुभ होता है. इस सपने के बाद आपकी समस्याएं हल हो सकती हैं या फिर आप उन समस्याओं को सुलझा लेंगे, साथ ही धन प्राप्ति का भी संकेत देता है ये सपना.

3. शिव जी के मंदिर को देखना
अगर आप शादीशुदा हैं, तो इस सपने का मतलब है आपको जल्द ही संतान की प्राप्ति होगी और अगर आप बीमार हैं तो आप उस बीमारी से भी मुक्ती पा सकते हैं. ऐसा माना जाता है कि किसी माइग्रेन या सिरदर्द की शिकायत हो और सपने में शिव आते हैं और वह सपने में शिव जी के मंदिर को लोहे में बदलता हुआ देखता है, तो उसकी यह बीमारी भी ठीक हो जाएगी.

4. शिव जी का त्रिशूल देखना
अगर आपने कभी भगवान शिव का शक्तिशाली त्रिशूल सपने में देखा तो इसका संबंध आपके जन्म, जीवन और मृत्यु की पीड़ा से कोई संबंध है. यह एक अच्‍छा शगुन वाला सपना माना जाता है.

5. सपने में शिवलिंग देखना
अगर कभी आपने अपने सपने में शिवलिंग को देखा है, तो घबराएं नहीं इस सपने का फल बेहद शुभ होता है. इस सपने का मतलब होता है आपकी जीत होगी, हर परेशानी से आपको मुक्ति मिलेगी और धन का प्रभाव बढ़ेगा साथ ही आप हर कार्य में सफलता हासिल करेंगे.

6. शिव की तीसरी आंख को देखना
कहते हैं जब शिव बेहद नाराज होते हैं या फिर वो किसी को श्राप देना चाहते हैं, तो उनकी तीसरी आंख खुलती है
लेकिन अगर सपनों की बात करें तो ऐसा कुछ नहीं है सपने में तीसरी आंख का मतलब है भगवान आपके अपने आने वाले जीवन के लिए कुछ संकेत दे रहे हैं और कुछ महत्वपूर्ण बदलाव हो सकता है.

7. शिव जी के डमरू को देखना
डमरु जो शिव के हाथों में अक्सर देखा जाता है, शिव
जी का डमरू ध्वनि का प्रतीक माना जाता है. ऐसा सपना देखने का मतलब है कि आपके आने वाले जीवन में हर तरह से सकारात्मक ऊर्जा आने वाली है, जो आपको सुखद अहसास कराएगी.

8. शिवजी के सांप को देखना
वैसे तो कई लोग सांप के सपने देखते हैं और अक्सर लोग इस सपने का अलग-अलग मतलब भी निकालते हैं, लेकिन अगर आप भगवान शिव के सांप का सपना देखते हैं, तो इसका मतलब साफ हैं कि आपको जल्द
ही लक्ष्मी की प्राप्ति होगी और अगर कोई भी सांप फन फैलाए हुए हो, तो आपके लिए शुभ फल देने वाला माना जाता है.

credit-Gaurav Varma