25 मई की रात करें इन 9 में से 1 उपाय, आपके पीछे-पीछे दौड़ेगी हर सफलता !!

25 मई की रात करें इन 9 में से 1 उपाय, आपके पीछे-पीछे दौड़ेगी हर सफलता !!

25 मई 2017 को अमावस्या है। अमावस्या की रात जब आसमान में चंद्रमा नहीं होता है और चारों ओर घना अंधेरा होता है। वह रात तांत्रिक और टोटके के लिए काफी उत्तम बताई जाती है। इस रात को बहुत खास कार्य करने से विशेष लाभ प्राप्त होते हैं या हम बताने जा रहे हैं अमावस की रात के टोटके जो एक ही रास्ता आपका भाग्य बदल सकते हैं।

1.अमावस्या की रात को उस  व्यक्ति के लिए काफी लाभदायक साबित होती है जिसे कालसर्पदोष होता है इसके लिए आपको एक अच्छे पंडित को बुलाकर घर में इस दिन पूजा या हवन करना चाहिए शादी शिव की पूजा करनी चाहिए।

2.किसी कुए में अगर आप हर अमावस्या को एक चम्मच दूध डालेंगे तो इससे आपके जीवन में सभी दुख खत्म हो जाएंगे।

3.अमावस्या की रात्रि में 8 बादाम और 8 काजल की डिबिया काले कपड़े में बांधकर संदूक में रखें इससे शुक्रिया आर्थिक समस्याओं का समाधान होगा।

4.अमावस्या के दिन एक सुखा नारियल लेकर उसमें एक छेद करके उसे बुरा चीनी से भर दें फिर उसे किसी निर्जन स्थान पर पेड़ के नीचे जहां पर चीटियां हो वहां पर डालकर रख दें। ध्यान रहे कि नारियल का खुला हिस्सा धरती के ऊपर ही रहे इसके बाद वापस मुड़कर ना देखें।यह बहुत ही अमोघ उपाय है इस उपाय से दूर रहती है सुख समृद्धि हर्ष एवं यश की प्राप्ति होती है।

5.अमावस्या के दिन एक कागजी नींबू लेकर शाम के समय उसके चार टुकड़े करके किसी भी चौराहे पर चुपचाप चारों दिशाओं में फेंक दें। इस उपाय से जल्दी बेरोजगारी की समस्या दूर हो जाती है।

6.अमावस्या के दिन काले कुत्ते को कड़वा तेल लगाकर रोटी खिलाएं जिससे केवल दुश्मन शांत होते हैं। जबकि आकर्षित देवताओं से भी रक्षा होती है।

7.अमावस्या के दिन घर के दरवाजे के ऊपर काले घोड़े की नाल को स्थापित करें ध्यान रहे कि उसका मुंह पर उपर कििओर खुला रहे लेकिन दुकान या अपने ऑफिस के द्वार पर लगाना हो तो उसका मुंह नीचे की ओर रखें इससे नजर नहीं लगती घर में स्थाई सुख समृद्धि का निवास होता है।

8.अमावस्या के दिन शनि देव पर कड़वा तेल ,काले उड़द, काले तिल, लोहा, काला कपड़ा और नीला पुष्प चढ़ाकर शनि का पौराणिक मंत्र  की एक माला का जाप करने से शनि का प्रकोप शांत होता है। अमावस्या को पीपल के पेड़ के नीचे कड़वा तेल का दिया जलाने से पित्र देवता प्रसन्न होते।

165 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published.