इस वैशाख पूर्णिमा पर करें आम के रस से शिव जी का अभिषेक..!!मिलेगा १००० गुना पुण्य…!!!

इस वैशाख पूर्णिमा पर करें आम के रस से शिव जी का अभिषेक..!!मिलेगा १००० गुना पुण्य…!!!

पुराणों में वैशाख पूर्णिमा का बहुत खास महत्व बताया गया है। भविष्य पुराण और आदित्य पुराण के अनुसार वैशाख पूर्णिमा अत्यन्त पवित्र और फलदायिनी बताई गयी है। इस दिन महीने भर से चले आ रहे वैशाख स्नान और महीने भर से चले आ रहे धार्मिक अनुष्ठान आदि की पूर्णाहुति होती है।इस दिन नदी और पवित्र सरोवरों में स्नान और दान से बहुत बड़ा पुण्य मिलता है। एक परम्परा से इस दिन लोग धर्मराज के निमित्त मिष्ठान, पकवान और जल से भरा कलस दान करते है। ऐसी मान्यता है की इस दिन का दान धर्म गौदान के सामान फलदायी होता है।

आज हम आपको इस दिन होने वाले बहुत ही खास काम के बारे में बता रहे है। वैशाख पूर्णिमा पर आम के रस से भगवान शिव का अभिषेक करना बहुत ही लाभकारी सिद्ध होता है। ऐसा करने से आपके सातो जन्मों के पाप नष्ट हो जाएंगे ।अभिषेक करने के लिए आपको सुबह जल्दी उठकर नहाकर ताज़े आम का रस निकाल कर शिव जी का अभिषेक करना होगा ।इससे आपको भगवान भोलेनाथ की असीम कृपा प्राप्त होगी और आपको १००० गुना अधिक फल प्राप्त होगा ।उसके बाद बचा हुआ आम रस गरीबो और जरुरतमंदो में बाँट दे ऐसा करने से आपको असीम सुख की प्राप्ति होगी और भगवान आपको अशीर्वादित करेंगे ।

इस दिन ऐसा माना गया है की ब्रह्मा जी ने तिल लोक का निर्माण किया था अतः इस दिन तिल का दान करना शुभ माना जाता है। पुराणों में कहा गया है वैशाख पूर्णिमा के दिन ऐसा करने से व्यक्ति अत्यंत सुख प्राप्त करता है।वेदो में अन्य भी कई दानो का महत्व बताया गया है जैसे पंखे का दान,फलों का दान,चप्पल का दान जिन्हें करने से लाभ प्राप्त होता है ।इस दिन शाम को भगवान विष्णु का पूजन करना श्रेष्ठ बताया गया है जिससे सारी नकारात्मक ऊर्जा दूर होती है और आपके घर में सकारात्मकता और सुख समृद्धि का वास होगा।