5 सितम्बर मंगलवारी पूर्णिमा सिर्फ आम का पत्ता फिर देखो चमत्कार तिजोरी छोटी रह जाएगी !!

शुक्ल पक्ष के अंतिम दिन को पूर्णिमा कहते हैं पूर्णिमा के दिन चंद्रमा अपने पूर्ण आकार में होता है इस दिन महालक्ष्मी की विशेष कृपा पाई जा सकती है इस दिन पूर्ण श्रद्धा और विश्वास श्री महालक्ष्मी को प्रसन्न करने हेतु किए गए सात्विक उपायों में से मां की कृपा मिलती है। धन की प्राप्ति तभी संभव है जब धन की देवी लक्ष्मी की कृपा आप पर बनी रहे लक्ष्मी की कृपा नहीं होने पर अथक प्रयास करने से धन की प्राप्ति नहीं होती। तंत्रशास्त्र में देवी लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए कई उपाय बताए गए हैं उनमें से एक नीचे लिखा है इसे करने से धन की इच्छा पूरी होती है।

शास्त्रों के अनुसार प्रत्येक पूर्णिमा के दिन सुबह-सुबह पीपल के वृक्ष से माता लक्ष्मी का आगमन होता है यदि आप धन की इच्छा रखते हैं ।तो पूर्णिमा के दिन नित्यकर्मों से निवृत होकर पीपल के पेड़ के नीचे मां लक्ष्मी का पूजन करें और लक्ष्मी को घर पर निवास करने के लिए आमंत्रित करें इससे लक्ष्मी की कृपा आप पर सदा बनी रहेगी।

प्रत्येक पूर्णिमा के दिन सुबह के समय हल्दी में थोड़ा पानी डालकर उसे घर के मुख्य दरवाजे पर ओम बनाए और चंद्रमा के उदय होने के बाद साबूदाने की खीर मिश्री डालकर बना कर मां लक्ष्मी को उसका भोग लगाएं फिर उससे प्रसाद के रूप में वितरित करें धन आगमन का मार्ग बनेगा। बरसाती पूर्णिमा पर सुबह के समय घर के मुख्य दरवाजे पर आम के ताजे पत्तों से बना हुआ तोरण अवश्य ही बांधते घर में शुभ या का वातावरण बनता है।

Loading...