5 लाख घंटी वाली देवी मां का चमत्कारी मंदिर; मरी माता मंदिर..!!!

नवरात्रि का पावन पर्व शुरू हो गया है और नौ दिनों तक श्रद्धा पूर्वक और हर्षोउल्लास के साथ मनाया जा रहा है कहा जाता है नवरात्री में मां दुर्गा अपने भक्तों पर विशेष कृपा करती है । मां के दर्शन पाने के लिए भक्त दूर-दराज अपनी मान्यता लेकर मंदिर पहुंचते हैं। देश में आज भी कई ऐसे मंदिर मौजूद हैं, जिनकी सच्चे मन से दर्शन मात्र से सभी मुरादें पूरी होती हैं। आज हम नवरात्रि के मौके पर आपको ऐसे ही एक चमत्कारी मंदिर के बारे में बता रहे हैं,

मरी माता मंदिर
मरी माता मंदिर

जहां मां जगदम्बा की कृपा से भक्तों के बिगड़े से बिगड़े सभी काम बन जाते हैं, इतना ही नहीं अकाल मृत्यु भी टल जाती है। यह मंदिर है उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर जिले का मरी माता का मंदिर।इस मंदिर के बारे में बताया जाता है की यह 150 साल पुराना है।

यह मंदिर चमत्कारी होने के साथ साथ अद्भुत भी हैं ऐसा इसलिए क्योंकि यहां 5 लाख घंटियां टंगी हुई हैं, इसलिए यह घंटी वाली माता का मंदिर नाम से भी प्रसिद्ध है।यहां मुरादें पूरी होने के बाद घंटी बांधने की परम्परा है ।यहां पहुंचने वाले श्रद्धालुओं की माता के प्रति अटूट आस्था देखने को मिलती है। क्योंकि जो भी भक्त इस मंदिर में पहुंचकर मां के दर्शन करता है, उसके जीवन में चमत्कार होता है। यहां के पुजारियों की माने तो मां की कृपा से कई

मरी माता मंदिर में घंटी भेंट करते भक्त
मरी माता मंदिर में घंटी भेंट करते भक्त

चमत्कार देखने को मिले हैं, जो आश्चर्यचकित करने वाले हैं।आइये पढ़ते है क्या क्या चमत्कार यहाँ हो चुके हैं:

  • मरी माता का दर्शन करने के लिए यात्री बस में सवार थे। अचानक बस मंदिर के समीप पुल के नीचे गिर गई। लेकिन किसी भी यात्री को कुछ नहीं हुआ। इसे लोगों ने माता का चमत्कार माना और मंदिर में घंटी बांधी। तब से यहां मुरादें पूरी होने के बाद घंटी बांधने की परंपरा चली आ रही है।

  • वर्षों पुरानी बात है, एक आदमी गूंगा था, उसने मंदिर में पहुंचकर अपनी जुबान काट दी और माता को चढ़ा दी। इसके बाद भी वह बोलता रहा और जिंदा रहा।
  • मंदिर के पास यदि एक्सीडेंट हो जाए तो किसी को भी खंरोच तक नहीं आती है। हाइवे से गुजरने वाले सभी बस और ट्रक के ड्राइवर भी यहां घंटी बांधते हैं।