17 साल बाद आया ऐसा महायोग !! शनिश्चरी अमावस्या पर काजल की डिब्बी से करे ये छोटा सा काम

17 साल बाद आया ऐसा महायोग !! शनिश्चरी अमावस्या पर काजल की डिब्बी से करे ये छोटा सा काम

कल शनिश्चरी अमावस्या है यह अमावस्या इस बार शनिवार को पड़ रही है इसलिए इसका नाम सेमेस्टर अमावस्या है अगर आपको शनिदेव को प्रसन्न करना है या आपके ऊपर शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या चल रही है आपके लिए यह एक शुभ अवसर आया है अगर आप ऐसे दिन काजल का यह उपाय कर ले तो आपको किसी प्रकार की कोई समस्या नहीं होने वाली है।

काला रंग शनिदेव को बेहद प्रिय होता है इसके लिए हम काले लोहे के बर्तन दान करते हैं काली उड़द काले तिल आदि का दान करते हैं जिसके लिए शनि देव की दृष्टि हमारे ऊपर हमेशा सकारात्मक रहे शनिदेव हमारे ऊपर सदा के लिए प्रसन्न रहें।

तो आज हम आपको शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए खाली काजल का एक उपाय लेकर आए हैं अगर आप जिस जगह ज्यादा रहते हैं आपको वह जगह सबसे ज्यादा प्रिय है तो आप उस जगह पर आसन बिछाकर बैठ जाएं । साथ में एक काली काजल की डिबिया लेने के बाद शनि देव का प्रिय मंत्र ॐ शं शनिश्चराय नमः इस मंत्र का काजल की डिबिया को अपनी मुट्ठी में जकड़ कर आप कम से कम 11 से 21 बार जितना आप से हो सके आप इस मंत्र का जाप करें ।

और इसके बाद आपको भगवान शनिदेव के मंदिर जाएं और उस काले डिबिया को पुजारी को दान करें। और बदले में आपको शनिदेव को जो तेल चढाया जाता है आप उस काजल की डिबिया में आए उतना तेल किसी दूसरे पात्र में ले ले । उसके बाद आपने इस तेल को अपने घर लेकर आए घर आने के बाद उस तेल का आप पर इतना प्रभाव पड़ेगा जो आप सोच भी नही सकते। आप उस तेल को अपने घर में धन का स्थान जहां हो वहां इस तेल से एक तिलक लगा दे और जो बाकी तेल है उसे आप अपने माथे पर तिलक लगा ले । और उसके बाद भी इस तेल को आप अपने घर में रख ले ।

76 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published.