शनिवार को पीपल के पेड़ पर चढ़ाया जाता है कच्चा दूध; जानिए क्यों…!!!

धार्मिक कहानियाँ (Religious Stories)

हमारे जीवन में ग्रहों की दिशा बड़ी ही महत्वपूर्ण होती है ज़रा सी खराब दशा अच्छे बने बनाये काम को बिगाड़ सकती है और हमें जमीन पर भी ला सकती है ।

ग्रहों की चाल से ना सिर्फ आपके घर में कलेश बढ़ता है बल्कि खराब ग्रह जीवन से सारी खुशियां समाप्त कर देते हैं ।

 पीपल का पेड़
पीपल का पेड़

इसीलिए कई लोग अपने इन ग्रहों को शांत रखने के लिए तमाम उपाय करते हैं ।

पूजा-पाठ दान पूण्य सब करते हैं ।

इसमें से एक है शनिदेव (Shanidev) की पूजा ।

ऐसा इसलिए क्योंकि शनि देव (Shanidev) को कर्मफलदाता कहा जाता है एक वे ही है जो हमारे ग्रहों की दशा को हिला सकते हैं ।

शनिदेव
शनिदेव

इसी वजह से उनके पूजा-पाठ पर विशेष ध्यान रखा जाता है ।

और इसी वजह से शनिवार (Saturday) के दिन पीपल के पेड़ और कच्चे दूध का बड़ा महत्व होता है ।

शनिवार को पीपल के पेड़ पर चढ़ाए कच्चा दूध

ऐसी मान्यता है कि हर शनिवार (Saturday) पीपल के पेड़ पर कच्चा दूध चढ़ाने से सभी ग्रह शांत हो जाते हैं, खासकर राहु-केतु, शनि और पितृ दोष ।

इसी वजह से खास मंत्रों के साथ शनिवार (Saturday) को लोग पीपल के पेड़ की पूजा करते हैं ।

शनिवार को पीपल के पेड़ पर चढ़ाए कच्चा दूध
शनिवार को पीपल के पेड़ पर चढ़ाए कच्चा दूध

इस तरह करते है पूजा:

  1. सबसे पहले पीपल के पेड़ पर कच्चा दूध चढ़ाएं ।
  2. दूध चढ़ाने के बाद पेड़ की सात बार परिक्रमा करें ।
  3. परिक्रमा करने के बाद सूर्य देव और भगवान शिव की पूजा करें ।

  1. पेड़ पर चढ़ाए हुए दूध या साथ ले गए लोटे से पानी को दोनों नेत्रों पर लगाएं ।
  2. नेत्रों पर लगाने के बाद ‘पितृ देवाय नम:’ मंत्र का जाप करें ।
शनिवार को पीपल के पेड़ पर चढ़ाए कच्चा दूध
शनिवार को पीपल के पेड़ पर चढ़ाए कच्चा दूध

खास बातें

  1. शनिवार (Saturday) को की जाती है पीपल के पेड़ की पूजा ।
  2. सूर्योदय से पहले की गई पूजा का मिलता है लाभ ।

इनके अलावा भी शनिदव (Saturday) की कृपा के लिए उनके मंदिर में या पीपल के पेड़ के नीचे हर शनिवार सरसों के तेल का दीपक जला सकते हैं ।

 

॥जय शनिदेव ॥