भारत के इन चार प्रसिद्ध मंदिरो मे आज भी कि जाती है तंत्रिको द्वारा तांत्रिक क्रिया !!

भारत धार्मिक देश माना जाता है यहां पर ऐसे बहुत समंदर है और बहुत से धार्मिक स्थल है जो आज भी तंत्र विद्याओं के लिए प्रसिद्ध है आज हम आपको उन मंदिरों के बारे में बताने जा रहे हैं जहां पर व्यापक तौर पर तंत्र विद्या का उपयोग किया जाता है और साथ ही तपस्या भी की जाती है आइए जानते हैं कौन सा है वह मंदिर।

1 वेताल मंदिर उड़ीसा

उड़ीसा की राजधानी भुवनेश्वर में यह मंदिर स्थित है इस मंदिर को 8 वीं सदी में बनाया गया था। इस मंदिर में बहुत ही महत्वपूर्ण एवं बलशाली चामुंडा माता की मूर्ति स्थापित है। बलशाली चामुंडा को माता काली का एक ही रूप माना जाता है। मंदिर में आज भी अघोरी एवं कई साधु तांत्रिक क्रियाएं करते हैं। इस मंदिर में साल में आने वाली चारों नवरात्रियों में तांत्रिक क्रियाओं का चलन और अधिक हो जाता है।

2 बैजनाथ मंदिर हिमाचल प्रदेश

इस मंदिर में भगवान शिव की पूजा अर्चना की जाती है यह मंदिर बहुत ही माना हुआ मंदिर है। यहां पर भगवान शिव शिवलिंग के रूप में विराजमान है। इस मंदिर की खासियत है कि जो भी भक्त इस मंदिर के पानी को ग्रहण करता है उसके पाचन शक्ति मजबूत होती है साथ ही इस मंदिर में तांत्रिक क्रियाओं का चलन बहुत ज्यादा होता है।

3 कालीघाट मंदिर कोलकाता

तांत्रिक क्रियाओं के लिए कोलकाता में स्थित कालीघाट मंदिर बहुत ही प्रसिद्ध माना जाता है वैसे तो यहां पर साल भर तंत्र-मंत्र किया जाता है परंतु नवरात्रि में बहुत ही सुप्रसिद्ध तांत्रिक क्रियाएं इस मंदिर में की जाती है माना जाता है कि इस स्थान पर देवी सती की उंगलियां गिरी थी।

4 कामाख्या मंदिर असम

कामाख्या मंदिर 51 शक्ति पीठों में बहुत ही प्रसिद्ध मंदिर माना जाता है कहा जाता है कि इस मंदिर में माता सती की योनि गिरी थी इसलिए इस मंदिर में योनि कुंड की पूजा की जाती है और यह योनि कुंड साल के 3 दिन  रजस्वला होती है। इस मंदिर में अघोरियों द्वारा कई तरह की तांत्रिक क्रियाएं की जाती है अर्थात यह मंदिर तांत्रिक क्रियाओं के लिए ही जाना जाता है।

2 Comments