प्राचीन समय की एक बात है, एक बार एक गांव में एक गरीब ब्राह्मण रहता था। वह ब्राह्मण नियमित रुप से श्री भगवान विष्णु की पूजन किया करता