इस मंदिर में मूर्ति की नहीं बल्कि महादेव के अंगूठे की पूजा होती है!!! दुनियाभर में भगवान शिव के कई मंदिर हैं। सभी मंदिर की अपनी कोई न