शिवपुराण के अनुसार जानिए; कैसे शिव पूजन के दौरान कुछ खास रस और फूल चढ़ाकर हम कर सकते है अपनी सारी मुश्किलों को दूर..!!!

सभी देवताओं में भगवान शिव एक ऐसे देवता है जो अपने भक्तों की पूजा पाठ से बहुत जल्दी प्रसन्न हो जाते है इसलिए इन्हें भोलेनाथ भंडारी कहा जाता है । इस सृष्टि का निर्माण भगवान शिव की इच्छा मात्र से ही हुआ है।

शिव शंकर भोलेनाथ
शिव शंकर भोलेनाथ

अत: इनकी भक्ति करने वाले व्यक्ति को संसार की सभी वस्तुएं प्राप्त हो सकती हैं। शिवजी अपने भक्तों की समस्त मनोकामनाएं पूरी कर देते हैं।

शिवपुराण के अनुसार, नियमित रूप से शिवलिंग का पूजन करने वाले व्यक्ति के जीवन में दुखों का सामना करने की शक्ति प्राप्त होती है।

शिवलिंग
शिवलिंग

आज हम आपको यहाँ पर शिवपुराण के अनुसार बता रहें है कैसे शिव पूजन के दौरान कुछ खास रस और फूल चढ़ाकर हम अपनी सारी मुश्किलों को दूर कर सकते है, तो आइये जानते है:

भगवान शिव को कौन-सा रस चढ़ाने से क्या फल मिलता है:

1.बुखार होने पर भगवान शिव को जल चढ़ाने से शीघ्र लाभ मिलता है,  सुख व संतान की वृद्धि के लिए भी जल द्वारा भगवान  शिव की पूजा उत्तम बताई गई है।

2.तीक्ष्ण बुद्धि के लिए शक्कर मिला दूध भगवान शिव को चढ़ाएं।

3.शिवलिंग पर गन्ने का रस चढ़ाया जाए तो सभी आनंदों की प्राप्ति होती है।

शिवलिंग का अभिषेक
शिवलिंग का अभिषेक

4.शिव को गंगा जल चढ़ाने से भोग व मोक्ष दोनों की प्राप्ति होती है।

5.शहद से भगवान शिव का अभिषेक करने से टीबी रोग में आराम मिलता है।

6.यदि कोई व्यक्ति शारीरिक रूप से कमजोर है तो उसे उत्तम स्वास्थ्य प्राप्त करने के लिए भगवान शिव का अभिषेक गौ माता के शुद्ध घी से करना चाहिए ।

भगवान शिव को कौन-सा फूल चढ़ाने से क्या फल मिलता है:

1.लाल व सफेद आंकड़े के फूल से भगवान शिव का पूजन करने पर मोक्ष की प्राप्ति होती है।

2.चमेली के फूल से पूजन करने पर वाहन सुख मिलता है।

भोलेनाथ
भोलेनाथ

3.अलसी के फूलों से शिव का पूजन करने पर मनुष्य भगवान विष्णु को प्रिय होता है।

4.शमी वृक्ष के पत्तों से पूजन करने पर मोक्ष प्राप्त होता है।

5.बेला के फूल से पूजन करने पर सुंदर व सुशील पत्नी मिलती है।

6.जूही के फूल से भगवान शिव का पूजन करें तो घर में कभी अन्न की कमी नहीं होती।

7.कनेर के फूलों से भगवान शिव का पूजन करने से नए वस्त्र मिलते हैं।

 शिवलिंग
शिवलिंग

8.हरसिंगार के फूलों से पूजन करने पर सुख-सम्पत्ति में वृद्धि होती है।

9.धतूरे के फूल से पूजन करने पर भगवान शंकर सुयोग्य पुत्र प्रदान करते हैं, जो कुल का नाम रोशन करता है।

10.लाल डंठलवाला धतूरा शिव पूजन में शुभ माना गया है।

11.दूर्वा से भगवान शिव का पूजन करने पर आयु बढ़ती है।

 

 

॥  जय महाकाल ॥

3 Comments